कोरोना संक्रमित मरीजो को बेहतर से बेहतर उपचार मुहैया कराएं- कमिश्नर

मेडिकल काॅलेज की सफाई व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाएं- कमिश्नर

शहडोल | कमिश्नर शहडोल संभाग श्री राजीव शर्मा ने कोरोना संक्रमित मरीजो को बेहतर से बेहतर उपचार मुहैया कराने के निर्देश मेडिकल कालेज प्रबंधन को दिए है। कमिश्नर ने निर्देशित करते हुए कहा है कि, कोरोना काल युद्व के समान है। उन्होने कहा कि युद्व में समय के घंटे नही देखे जाते। इसी प्रकार कोरोना महामारी ने काम के घंटो का आकलन नही करते हुए सभी चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ सेवाभाव एवं समर्पित होकर मरीजो को उपचार मुहैया कराए। कमिश्नर ने निर्देशित दिए कि कोरोना महामारी के समय जो अधिकारी एवं कर्मचारी अपने दायित्वो का निर्वहन ठीक से नही कर रहे है कामचोरी कर रहे है ऐसे चिकित्सको अधिकारियो और कर्मचारियो के विरूद्व कार्यवाही भी करें। उन्होने कहा कि, कोरोना काल सामंजस्य और समन्वय के साथ कार्य कर लोगो की जिंदगी बचाने का समय है, इस चुनौतीपूर्ण समय के सभी चिकित्सक समर्पित होकर कार्य करें। कमिश्नर शहडोल संभाग श्री राजीव शर्मा ने आज मेडिकल काॅलेज में स्वास्थ्य सेवाओ की समीक्षा बैठक में चिकित्सको को निर्देशित कर रहे है। बैठक में कलेक्टर शहडोल डाॅ० सतेन्द्र सिंह, डीन मेेडिकल काॅलेज डाॅ० मिलिंद शिरालकार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री मेहताब सिंह,अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ० एम.एस सागर, अधीक्षक मेडिकल कॉलेज डॉ० नागेंद्र सिंह सहित मेडिकल कॉलेज के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

बैठक में कोरोना संक्रमित मरीजो के स्वास्थ्य परीक्षण की जिलेवार समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने निर्देश दिए कि, कोरोना मरीजो के स्वास्थ्य परीक्षण एवं टेस्टिंग में तेजी लाई जाएं। कमिष्नर ने निर्देश दिए कि, ऐसे चिकित्सक जिनकी कोरोना मरीजो के उपचार के लिए अभी तक ड्यूटी नही लगाई गई है, ऐसे सभी चिकित्सको की ड्यूटी लगाई जाए तथा कोरोना संक्रमित मरीजो को बेहतर से बेहतर उपचार मुहैया कराया जाए। कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिए कि, ऐसे कोरेान संक्रमित मरीज जिन्हें आक्सीजन की आवश्यकता न हो ऐसे मरीजो को ऑक्सीजनयुक्त बेड नही दिये जाए। कमिश्नर ने कहा कि, कोरोना संक्रमण से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजो को ऑक्सीजनयुक्त बेड उपलब्ध कराने के लिए मेडिकल काॅलेज में आज से ही एक प्रशासकीय अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी। कमिश्नर ने मेडिकल काॅलेज के कोविड-19 सेंटर में पूछतांछ केन्द्र और सूचना बोर्ड लगाने के भी निर्देश मेडिकल काॅलेज डीन को दिए, ताकि कोरोना संक्रमित मरीजो केा किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। बैठक में डीन मेडिकल काॅलेज डाॅ० मिलिंद शिरालकर ने बताया कि, मेडिकल काॅलेज की कोरोना टेस्टिंग मशीन से प्रतिदिन लगभग 800 टेस्टिंग की जा रही है। उन्होने बताया कि अभी तक कोई भी पेंडेंसी नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *