आदिकाल से आदिवासी ही देश के पुराने मूल निवासी: खाद्य मंत्री

शैक्षणिक, आर्थिक एवं सामाजिक विकास ही आदिवासियों के विकास का मूल आधार
अनूपपुर। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि किसी भी व्यक्ति, समाज के विकास का मूल आधार शैक्षणिक, आर्थिक सामाजिक एवं विकास ही उस व्यक्ति अथवा समाज को विकसित समाज के रूप में परिभाषित करता है। उन्होंने कहा कि दूरदृष्टा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आदिवासियों के प्रति संवेदनशील सोच का ही उपेक्षित आदिवासी समाज के उत्थान एवं विकास के लिए अनेक योजनाएं एवं कार्य किए हैं। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि इस देश में वास्तव में आदिकाल से रहने के कारण ही जनजाति समुदाय को आदिवासी नाम से संबोधित किया गया इस कारण आदिवासी ही देश के असली मूल निवासी होने के बावजूद विगत 70 वर्षों में विकास की दृष्टि से समाज हमेशा पिछड़ा और उपेक्षित रहा है।
पीले चावल देकर आमंत्रित


खादय मंत्री बिसाहूलाल सिंह श्यामला हिल्स स्थित जनजातीय संग्रहालय में कार्यरत समाज के कलाकारों एवं उपस्थित लोगों को 15 नवंबर को भोपाल में बिरसा मुण्डा जयंति के अवसर पर आयोजित जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह के लिए पीले चावल देकर आमंत्रित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने समाज के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी टंटया भील और बिरसा मुण्डा चित्रों पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर उपस्थित जनजाति समाज के पदमश्री भज्जू श्याम को तीरकमान देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी.डी. शर्मा ने भी उपस्थित प्रतिष्ठितजनों को संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *