शक्तिनगर से करैलारोड रेल खण्ड पर विधुतीकरण कार्य का रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा निरीक्षण

(शशिकांत कुशवाहा)

शक्तिनगर(सोनभद्र) : रेल संरक्षा आयुक्त (पूर्वी) श्री आनन्द मोहन चौधरी ने पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य परियोजना निदेशक (विद्युतीकरण) एके चौधरी तथा उप मुख्य अभियंता(रेलवे विधुतीकरण) पूर्व मध्य रेलवे श्री अशोक कुमार के साथ शक्तिनगर से करैला रोड 32 किमी रेल खण्ड में हुए विधुतीकरण कार्यों का निरीक्षण किया।

ट्रायल के तहत लोको चलाने की प्रक्रिया भी पूरी

क्षेत्रीय रेल उपयोग कर्ता परामर्शदात्री समिति (रेलवे बोर्ड) उ0म0 रेलवे श्री एस0 के0 गौतम ने जानकारी देते हुए बताया कि शक्तिनगर से करैला रोड तक का विद्युतीकरण कार्य एक माह पूर्व पूरा हो चुका था। करैला रोड से शक्तिनगर के बीच ट्रायल के तहत लोको चलाने की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई थी। कमिश्नर आफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) निरीक्षण के इंतज़ार में इस रेल खण्ड पर विधुत इंजिन से रेल गाड़ियाँ नहीं चल पा रही थीं।

एक सप्ताह में इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचालन होगा शुरू

सी आर एस निरीक्षण उपरांत उनका आदेश पत्र मिलते ही एक सप्ताह में इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। यह शेष हिस्सा कोयला लोडिग के लिहाज से बहुत ही महत्वपूर्ण है।बताते चलें कि गढ़वा रोड-चोपन-सिगरौली रेलखंड के 257 किलोमीटर के हिस्से में विद्युतीकरण कार्य पहले ही पूरा हो गया है। इस रेल खण्ड पर बिधुत इंजिन से मालगाड़ियां चल रही हैं।।चोपन से चुनार रेल खण्ड भी विधुतीकरण हो गया है तथा इस रेल खण्ड पर बिधुत इंजिन से मालगाडियां चल रही हैं।

कार्बन उत्सर्जन कम होने से प्रदूषण में कमी आएगी

करैला रोड से शक्तिनगर के बीच विद्युतीकरण का कार्य पूरा होने से रेलवे के ईंधन खर्च में कमी आने के साथ लोडिग में भी वृद्धि होगी। खासकर इलेक्ट्रिक से डीजल इंजन के परिवर्तन में खर्च होने वाला समय भी बचेगा। कार्बन उत्सर्जन कम होने से प्रदूषण कम होगा। श्री गौतम जो कि इन रेल खण्डों के विधुतीकरण व दोहरीकरण हेतु निरंतर लंबे समय से प्रयास कर रहे थे, उन्होंने सम्पूर्ण रेल खंडों का विधुतीकरण पूरा होने पर खुशी जताते हुए कहा कि दोहरीकरण कार्य शीघ्र पूरा कराने हेतु वह निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *