राजेश खन्ना भारत के पहले सुपरस्टार थे , आज तक नहीं टूट पाया ये रिकॉर्ड

भोपाल । वैसे तो बॉलीवुड में कई स्टार्स रहे हैं लेकिन राजेश खन्ना जैसा स्टारडम शायद ही आजतक किसी ने देखा हो. उनका करियर आज भी लोगों के लिए प्रेरणा है. राजेश खन्ना ने बॉलीवुड को एक नई परिभाषा दी थी. लेकिन आपको पता है कि ये शुरू कैसे हुआ? उनकी पुण्यतिथि पर बता रहे हैं-
1965 में फिल्मफेयर और यूनाइटेड प्रोड्यूसर्स द्वारा किए गए एक टैलेंट हंट शो के जरिए राजेश खन्ना को सेलेक्ट किया गया था. ये उस जमाने की बात है जब भारत में टेलीविज़न पॉपुलर नहीं हुआ करते थे रियलिटी शो तो दूर की बात है.राजेश खन्ना का असली नाम जतिन खन्ना था. उन्होंने बॉलीवुड में एंट्री से पहले अपना नाम बदल दिया था. उनके अंकल ने उन्हें ऐसा करने की सलाह दी थी. आगे चलकर राजेश एक बड़े स्टार बने और उनका नाम घर-घर में जाना जाने लगा. 80 के दशक में कई लोगों ने राजेश के नाम पर अपने बच्चों के नाम भी रखे थे.राजेश खन्ना बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे. वो पहले ऐसे एक्टर थे, जिन्हें सुपरस्टार का नाम दिया गया. ये फिल्म आराधना के ब्लॉकबस्टर हिट होने के बाद हुआ. क्रिटिक्स ने उन्हें भारतीय सिनेमा का पहला सुपरस्टार बताया था.राजेश खन्ना ने साल 1966 में अपना बॉलीवुड डेब्यू फिल्म आखिरी खत से किया था. ये पहली भारतीय फिल्म थी, जिसे 1967 में ऑस्कर्स में एंट्री मिली थी. तीन दशक से ज्यादा चले अपने करियर में राजेश खन्ना ने सिर्फ 22 मल्टी-स्टारर फिल्मों में काम किया. जबकि उनकी सोलो हीरो फिल्में 100 से ज्यादा थीं.

वे भारत के पहले और इकलौते एक्टर हैं, जिन्होंने एक के बाद एक लगातार 15 सोलो हिट फिल्में दी थीं. साल 1969 से 1971 में रिलीज हुईं उनकी फिल्में सुपरहिट रहीं. उनके इस रिकॉर्ड को आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है. राजेश खन्ना भारत के सबसे सफल एक्टर्स में से एक रहे थे. अपने करियर में उन्होंने लगभग 168 फीचर फिल्मों और 12 शॉर्ट फिल्मों में काम किया था. साल 1970 से लेकर 1987 तक वे बॉलीवुड के सबसे ज्यादा कमाई करने वाले एक्टर थे. साल 1980 से 1987 तक अमिताभ बच्चन ने ये टैग उनके साथ शेयर किया.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *