शासकीय भूमि और पानी टंकी पर राजू दी ग्रेड का कब्जा

शासकीय भूमि और पानी टंकी पर राजू दी ग्रेड का कब्जा
ग्रामीण तरस रहे पानी को और बाउन्ड्रीवॉल के अंदर हो रहा उपयोग

कलेक्टर के निर्देश पर जिला प्रशासन की टीम बुलडोजर लेकर कई अवैध आशियाने को ध्वस्त कर दिया, वर्षो से शासकीय भूमि पर बाउन्ड्रीवॉल तैयार कर सार्वजनिक पानी टंकी को अपनी जगीर बनाने वाला बसंतपुर दफाई निवासी मुस्ताक अहमद के अतिक्रमण तक जिला प्रशासन की टीम को पहुंचने में पसीने छूट रहे हैं।

अनूपपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश भर के जिलो में अभियान चलाकर माफियाओं द्वारा किये गये शासकीय भूमि पर अतिक्रमण को ढाने के निर्देश दिये हुये हैं, इस तारतम्य में भू-माफियाओं और अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध जिला प्रशासन ने कार्यवाही करते हुये एक करोड़ 86 लाख से ज्यादा की भूमि अतिक्रमण मुक्त करा चुकी है। इतना ही नहीं पवित्र नगरी अमरकंटक में कब्जे धारियों पर कार्यवाही करते हुये बुलडोजर से बड़ी-बड़ी बल्डिंगो को ध्वस्त कर दिया गया।
बच गया मुस्ताक अहमद
थाना चचाई अंतर्गत अमलाई कॉलरी के बसंतपुर दफाई में निवास करने वाला मुस्ताक अहमद उर्फ राजू दी ग्रेड पिता स्व. रज्जाक अहमद के द्वारा वर्षो से शासकीय भूमि पर बनी पानी टंकी को बाउन्ड्रीवॉल तैयार कर अपने कब्जे में ले लिया गया। पूरे जिले में कलेक्टर सुश्री सोनिया मीणा के नेतृत्व में अभियान चलाकर शासकीय भूमि को मुक्त कराया गया, लेकिन जिला प्रशासन की टीम को मुस्ताक अहमद का अतिक्रमण शायद दिखाई नहीं दिया या फिर उसे बचाने की कोशिश में जिम्मेदार लोग लगे हुये हैं।
दर्जनों अपराधिक प्रकरण
थाना चचाई अंतर्गत निवास करने वाले मुस्ताक अहमद व दोनों पुत्रों पर दर्जनों अपराधिक प्रकरण थानो में दर्ज होने के बाद भी पुलिस को इनके खिलाफ कोई सबूत नहीं जुटा पा रही है, वहीं सद्दाम खान जिला बदर की सूची में शामिल है जिनका प्रकरण कलेक्टर न्यायालय में विचाराधीन है। डीजल चोरी, मारपीट जैैसे संगीन अपराध दर्ज होने के बाद भी जिला व पुलिस प्रशासन की नजरों में आल इज वेल दिखाई दे रहा है।
भाजपा नेता का संरक्षण
एक स्थानीय भाजपा युवा मोर्चा का नेता अतिक्रमणकारी मुस्ताक अहमद को संरक्षण दे रहा है, उसके बदले मुस्ताक उसे भोपाल जाने के लिये चोरी का डीजल प्रदान करता है, ताकि भाजपा का छुटभैया नेता मुख्यमंत्री तक उस अवैध डीजल से यात्रा कर सके, इसलिये मुस्ताक अहमद शासकीय जमीन में कब्जा कर अपना जीवन यापन कर रहा है, और शिकायतें बेअसर हो जाती है।
नल-जल योजना ठप्प
ग्राम पंचायत देवहरा के द्वारा ग्रामवासियों के लिये नल-जल योजना के माध्यम से पेयजल की व्यवस्था की गई थी, लेकिन पानी टंकी मुस्ताक के कब्जे में आने के बाद यह योजना ठप्प हो गई और वर्षो से इस टंकी के पानी से वंचित ग्रामीण वासी इस भीषण गर्मी में भी बंूद-बूंद को तरस रहे हैं।
इनका कहना है-
मुझे इसकी विधिवत जानकारी उपलब्ध करायें, जांचकर कार्यवाही अवश्य की जायेगी।
अखिल पटेल
पुलिस अधीक्षक, अनूपपुर
————————————–
अनेक मामलो में कई बार फोन के माध्यम से संपर्क करने का प्रयास किया जाता है, लेकिन कलेक्टर सुश्री सोनिया मीणा के द्वारा कभी भी न तो फोन रिसीव किया जाता है और न ही वापसी प्रतिक्रिया दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed