10 साल से चल रहा राखड का खेल

ऐई साहब कमीशन के फेर में राहगीर को धकेल रहे मौत के आगोश में 
अनूपपुर। अमरकंटक थर्मल पावर चचाई इन दिनों कमाई का एक जरिया बना हुआ है, कमीशन के फेर में सैलो प्लांट का राखड़ खाली नहीं हो पा रहा है, जबकि इस   राखड़ को ले जाने के लिए ब्रिक्स प्लांट को मुफ्त उपलब्ध कराना है एवं कई सीमेंट फैक्ट्रियों का ठेका भी है, जिसमें एसईसी फ्रीजियम रिलायंस और अन्य कंपनियों को राखड उठाने का ठेका हुआ है, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसईआरएस अपना कमीशन का डिमांड बढ़ा दिए हैं, इस कारण से गाडिय़ां आना बंद हो गई है, जो कि सैलो प्लांट ओवरफ्लो होकर और रबड़ का गुब्बारा चारों ओर फैला रहा है।
रहवासी और राहगीर परेशान
इस पूरे घटनाक्रम का खामियाजा स्थानीय रहवासियों और राहगीरों को भुगतना पड रहा है, राहगीरों को और रहवासियों को बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है और ओवरलोड भी इतनी होती है की गाडियां पूरे रोड की दुर्दशा कर दिए है, पूर्व में सैलो प्लांट के पास ओवरलोड राखड़ से भरा हुआ ट्रक एक राहगीर को कुचल दिया था, जिसका एक अंग टूट गया पर अधिकारी अपने कमीशन के फेर से बाज नहीं आते है, अधिकारी तो अपने कमीशन के फेर में मनचाहे कार्य कर रहे है, और राखड की ओवरलोडिंग भी जारी है, पूर्व में पदस्थ ऐई अतुल कुमार सिंह के ऊपर ओवरलोड की चलते एफआईआर हुई थी, पर अब तो यातायात सुरक्षा भी चौपट नजर आ रही और इन गाडियों को कई जिला भी पार करना होता है, पर कमीशन के चक्कर में सब आंख बंद कर बैठे हैं, चाहे वो पॉल्यूशन विभाग हो या फिर परिवहन विभाग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *