अतिक्रमणकारियों का गढ़ बनी आवासीय कॉलोनी

(Santons Tandon+7987303454)
उमरिया। एक ओर प्रदेश के मुखिया के द्वारा जिले के अधिकारियों को अतिक्रमणकारियों पर शिकंजा कसने का निर्देश दे रही है और साथ-साथ अतिक्रमण हटाने का जिस पर जिला प्रशासन द्वारा हाल ही में कई वर्षों से अतिक्रमण किए हुए मकानों को धराशाई भी किया है। इतना सब कुछ जानते हुए भी जिले में कुछ लोग ऐसे हैं , जिन्हें शासन प्रशासन का कोई खौफ नहीं है। जो पैसों और पहुंच का भय दिखा सारे नियम कायदों की धज्जियां उड़ाते दिखाई दे रहे हैं।
अतिक्रमणकारियों की शरण स्थली
धावड़ा कालोनी के मार्ग से सटकर दबंगों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है, मजे की बात तो यह है कि जिले के हर प्रशासनिक अधिकारी का दिन में कई बार गुजरना होता है, लेकिन बाहर से नौकरी करने आए लोगो के लिए सबसे बड़ी शरण स्थली बनते जा रही है। जहां जमीन तो जमीन अब लोग सीधे सरकारी कर्मचारी आवास पर ही कब्जा कर रहे हैं , जिन आवासो को कर्मचारी होने के नाते उनको रहने के लिए दिया गया था। यह अतिक्रमण आवासों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि इन आवासों में कुछ कर्मचारियों ने बड़ी-बड़ी दुकानें बनवाकर खुद का व्यवसाय तक चला रहे हैं।
नोटों के वजन दबा दिया
अधिकारियों कालोनी में हो रहे अवैध निर्माण की पूरी जानकारी है, चर्चा है कि कार्यवाही करने वालों हाथ नोटों के वजन से दबे हुए हैं, जिससे ऐसे निर्माण होते जा रहे हैं, जिस तरह शहर में झिरिया मोहल्ला, सुभाषगंज, सगरा रोड, एजेल बिल्डिंग के पीछे, कृष्णताल, जिला पंचायत से सटे क्षेत्र में, चौपाटी से लेकर फजिलगंज से लालपुर रोड तक की जमीन अतिक्रमण की भेट चढ गई, ठीक उसी तरह कर्मचारियों के लिए बनी यह कालोनी भी अतिक्रमण की चपेट में होती जा रही है।
इनका कहना है…
जानकारी मिली है और शीघ्र ही ऐसे निर्माण पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
संजीव श्रीवास्तव
कलेक्टर
उमरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *