आरपीएफ प्रभारी राणा के ऊपर युवती ने लगाये दुष्कर्म के आरोप

Shri Sitaram patel

अनूपपुर। वर्दी जब देश सेवा करती है तो मिशाल बनती है और जब अपना रुतबा दिखाती है तो कई मामलों में न्याय भी शर्मिन्दा नजर आता है, जिस वर्दी ने लोगों को न्याय दिलाने की शपथ लेती है, लेकिन जमीन स्तर पर कितना असर देखने को मिलता है। ये किसी भी पीडित से पूछने पर ही पता चलता है। मामला अनूपपुर कोतवाली अंतर्गत सामने आया है जब खाकी की सताई एक युवती खाकी के अधिकारी से बलात्कार का शिकार होती है तो कोतवाली पुलिस भी न्याय की जगह नाबालिक से समझौता करती नजर आती है।

युवती का किया शोषण

अनूपपुर रेलवे विजलेंस डिपार्टमेंट में पदस्थ विभाग प्रभारी राणा प्रताप सिंह ने वर्ष 2011 में नाबालिक अपने घर से बिजुरी स्थित नानी के घर जाने के लिए अनूपपुर स्टेशन में ट्रेन का इंतजार करती है। तब विजलेंस प्रभारी राणा प्रताप सिंह रेलवे की बन्द पडी केबिन में एक नाबालिक ल?की के साथ बलात्कार करता है। इतना ही नही उस नाबालिक लडकी का वीडियो भी बनाता है और उसको जान से मारने की धमकी देता है। जिस बात से डरी लडकी अपने परिजनों को कुछ भी नही बता पाती है। मामला यही नही रुका अधिकारी ने 7 साल बाद फिर लडकी से मुलाकात करता है और फिर से बलात्कार जैसी घटना को अंजाम देता है। इतना ही नही पीडित का गर्भ पात भी कराता है।

शादी से किया इनकार

अपने साथ हो रही घटना पर पीडित न्याय की आस में कोतवाली पहुँच कर आप बीती सुनाती ह,ै तब कोतवाली पुलिस आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करने की जगह उसके साथ मिलकर पीडित को डराते धमकाते है और पीडित को मुंह बंद रखने की बात कर उसके खाते में 5 लाख रुपए जमा करा देते है। वही बलात्कारी पीडित को शादी का झांसा भी देता है और स्टांप पेपर में शादी करने का इकरार भी करता है। लगातार बलात्कार का शिकार हो रही पीडित ने न्याय की आस में जिला न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। लिखित बयान देकर विधिक सेवा प्राधिकरण को मामलें से अवगत कराते हुए न्याय की गुहार लगाई है और आरोपी के खिलाफ कडी कार्यवाही करने की बात भी कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed