…तो शर्मा जी ने करवा दी धुर्वे की ताजपोशी !

शहडोल। 1 करोड़ से अधिक के गबन के मामले में माननीय उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत जयसिंहनगर के बीईओ अशोक शर्मा को मिलने की खबर है, यह खबर शहडोल पुलिस के लिए भी राहत भरी है, अब पुलिस को मीडिया और आमजनों के इस मामले में लगातार लग रहे आरोपों से मुक्ति मिल जायेगी, इधर खबर है कि सहायक आयुक्त बनने के बाद से ही एम.एस.अंसारी और अशोक शर्मा के बीच चल रहे शीतयुद्ध में भी श्री शर्मा ने बाजी मार ली है, प्रशासनिक व राजनैतिक गलियारों से आई खबरों पर यकीन करें तो, अशोक शर्मा ने पूर्व कलेक्टर के दौरान खुद के ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों और एफआईआर दर्ज होने के बाद फरारी में रहते हुए दोनों ही मामलों में जीत हासिल कर ली है। खबर है कि अभी से कुछ घंटे पहले कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य के द्वारा विभागीय आदेश क्रमांक 5046 जारी करते हुए शासकीय कन्या शिक्षा परिसर शहडोल के प्राचार्य रणजीत सिंह धुर्वे को सहायक आयुक्त, जनजातीय कार्यविभाग शहडोल का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया है। वहीं श्री अंसारी उक्त विभाग में पूर्व की तरह प्रभारी क्षेत्र संयोजक के रूप में कार्य करेंगे।
इस संदर्भ में यह भी चर्चा है कि श्री शर्मा ने इस पूरे मामले में कूटनीतिक जीत प्राप्त कर ली है और श्री अंसारी से पूर्व में चल रहे शीतयुद्ध और श्री अंसारी के कार्यकाल के दौरान श्री शर्मा के ऊपर लगाये गये आरोपों का खामियाजा श्री अंसारी को भुगतना पड़ रहा है। उच्च न्यायालय से राहत मिलने के बाद अब आने वाले दिनों में श्री शर्मा पुराने पद और संभवत: आरोपों से भी नई जांच के बाद मुक्ति पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *