गोहपारू में फोटोकापी दुकान से चल रहा सट्टा कारोबार @पुलिस मौन

(बंटी सोनी)
गोहपारू। एक ओर जहां सुचिता की राजनीति करने वालों की सरकार प्रदेश और देश में आरूढ़ है, वहीं जनपद मुख्यालय में सट्टे का गैर कानूनी कारोबार खुलेआम चल रहा है। अब यह सब पुलिस के संरक्षण में चल रहा है या पुलिस की जानकारी के बिना चल रहा है, कहना मुश्किल है। दोनों ही स्थिति में पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगता है। क्योंकि यदि यह सट्टा पुलिस के संरक्षण में चल रहा है, तो यह न केवल पुलिस के लिए बल्कि सत्ता के हुक्मरानों के लिए भी शर्मनाक है और यदि सट्टा पुलिस की जानकारी के बगैर चल रहा है, तो पुलिस को अपनी कार्यक्षमता और कार्यप्रणाली पर आत्मचिंतन करना चाहिए। गौरतलब है कि स्थानीय पुलिस पर जब उधााधिकारियों का दवाब पड़ता है, तब पुलिस एकाध छोटा मोटा केस बना भी देती है। और ऐसी ही केस स्वत: साबित करते हैं कि सट्टा बेखोफ चल रहा है। लेकिन उसके बावजूद पुलिस कोई फोलोअप नहीं करती।
यहां चल रहा कारोबार
जनपद मुख्यालय में जुआ व सट्टे का कारोबार बेखौफ संचालित हो रहा है। स्थानीय अधिकारियों को जानकारी होने के बावजूद किसी प्रकार की मुहिम या इनकी धरपकड़ नहीं की जा रही है। जनपद मुख्यालय के सामने फोटोकापी दुकान में बेधड़क सट्टे का कारोबार संचालित हो रहा है, लेकिन जिम्मेदारों को इस बात की खबर न हो यह समझ से परे है। थानांतर्गत होने वाले इस अवैध कारोबार पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है।
गाढ़ी कमाई हो रही बर्बाद
उक्त क्षेत्र में काला कारोबार खुलेआम चल रहा है, जिसमें मुख्य रूप से युवा वर्ग को अपनी चपेट में ले रखा है। आलम यह है कि खुलेआम चल रहे इस अवैध कारोबार को लेकर कोई भी जिम्मेदार कार्रवाई तक करने को तैयार नहीं है। ऐसे में यह कारोबार न सिर्फ लगातार बढ़ता जा रहा है, बल्कि माया रूपी चमक को देखकर इसकी चपेट में आने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। यूं तो इसके प्रति ज्यादातर युवा लोग ही आकर्षित होते हैं, लेकिन सैकड़ों ऐसे वरिष्ठ लोग भी शामिल हैं, जिन्हें इसकी लत लग चुकी है। ऐसे में वे इस बार न सही अगली बार के चक्कर में अपनी गाढ़ी कमाई का पैसा इसमें बर्बाद कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *