निंदनिय है देश विरोधी आवाज को समर्थन देना: भूपेन्द्र

शहडोल बुढ़ार के युवा समाजसेवी भूपेंद्र पाल सिंह (सनी छाबड़ा) ने कहा है कि देश की अखंडता को विभाजित करने वाली कोई भी सोच निंदनीय है। किसान देश का अन्नदाता है उनकी समस्या सुनना और उसका निराकरण करना सरकारों की सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। हिंदुस्तान जैसे बड़े राष्ट्र में कोई भी बड़ा बदलाव लाना है उसके लिए बड़े और कठोर कदम उठाने पड़ सकते हैं, जिनसे संबंधित लोगों को कुछ समय के लिए परेशानी भी उठानी पड़ सकती है और जिनके परिणामों के लिए हमें लंबा इंतजार भी करना पड़ सकता है। किसान आंदोलन की आड़ में कुछ अनैतिक संगठनों द्वारा खालिस्तान समर्थक और देश विरोधी आवाज को समर्थन देने की में घोर निंदा करता हूं। कोई भी राष्ट्र तब मजबूत बनता है जब उसके नागरिक, दलवाद और जातिवाद से ऊपर उठकर राष्ट्रवाद की भावना रखकर आगे बढ़ते हैं। हम भारतीयों को यही सोच रख कर आगे बढऩा चाहिए और एक सुंदर भारत और मजबूत भारत की कल्पना को सच में बदलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *