मातृ एवं शिशु मृत्यु रोकने के लिए करें ठोस कार्यवाही-कमिश्नर

 

मातृ वंदना योजना को और अधिक कार्यगर और प्रभावी बनाएं- कमिश्नर

 

संभागीय स्तरीय समीक्षा बैठक में कमिश्नर ने की संवेदना अभियान की समीक्षा

अनिल तिवारी

शहडोल। 25 जून 2021- कमिश्नर शहडोल संभाग राजीव शर्मा ने शहडोल संभाग में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए ठोस एवं परिणाम मूलक कार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। कमिश्नर ने कहा है कि शहडोल संभाग में शिशु एवं मातृ मृत्यु दर में कमी लाने के लिए परिणाम मूलक कार्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए महिलाओं एवं किशोरी बालिकाओं को जागरूक करने की आवश्यता है। इस दिशा में कार्य होना चाहिए। कमिश्नर ने कहा है कि कुपोषण और मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए आर्थिक तौर से कमजोर परिवारों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की आवश्यता है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक बेहतर बनाने की आवश्यता है। कमिश्नर ने कहा है कि आंगनवाड़ी केन्द्रों द्वारा दिए जा पोषण आहार व्यवस्था को सुदृढ़ और सुचारू बनाया जाएं। कमिष्नर शहडोल संभाग श्री शर्मा आज संवेदना अभियान की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे।

रेडी टू ईट वितरण कार्यक्रम को बनाएं मजबूत

कमिश्नर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों द्वारा वितरित किए जा रहे टीएचआर एवं रेडी-टू-ईट वितरण कार्यक्रम को और अधिक प्रभावी बनाया जाएं। कमिश्नर ने कहा कि सांझा चूल्हा कार्यक्रम को भी और अधिक प्रभावी और पारदर्शी बनाया जाएं। उन्होंने कहा कि सांझा चूल्हा कार्यक्रम टीएचआर वितरण और रेडी-टू-ईट वितरण कार्यक्रम के तहत पोषण आहार एवं भोजन सामग्री बच्चों और महिलाओं तक पहॅुचना चाहिए। कमिश्नर ने शहडोल संभाग के ब्यौहारी क्षेत्र में शिशु एवं मातृ मृत्यु दर में कमी परिलक्षित नही होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देश दिए कि ब्यौहारी क्षेत्र मातृ एवं शिशु दर में कमी लाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। कमिश्नर ने बुढ़ार परियोजना में लाड़ली लक्ष्मी योजना की प्रगति की स्थिति ठीक नही होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा स्थिति सुधारने के निर्देश दिए।

मातृ वंदना योजना का लाभ हितग्राहियों तक पहुंचे

बैठक में कमिश्नर द्वारा मातृ वंदना योजना की जिलेवार समीक्षा की गई तथा निर्देश दिया गया कि मातृ वंदना योजना का लाभ पात्र हिताग्रहियों तक पहॅुचना चाहिए, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। बैठक में संयुक्त आयुक्त विकास कुलेश, उपायुक्त जनजातीय विकास विभाग जगदीश सरवटे, संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शहडोल संभाग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास जिला शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर, जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक शहडोल (नोडल), सहायक संचालक उद्यानिकी विभाग शहडोल (नोडल), खंड चिकित्सा अधिकारी शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर, परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर, संभागीय समन्वयक जन अभियान परिषद शहडोल संभाग, जिला समन्वयक नेहरू युवा केंद्र जिला शहडोल एवं कृषि विज्ञान केंद्र शहडोल को उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed