भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का 20वां राज्य सम्मेलन का हुआ आयोजन

हम मन की बात करने वाले नहीं दिल की बात करने वाले लोग हैं : अतुल

शहडोल। शहर में चल रहे कम्युनिस्ट पार्टी के त्रिदिवसीय राजकीय सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में उपस्थित पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव कॉमरेड अतुल कुमार अंजान ने मोदी सरकार को आंड़े हाथों लेते हुए कहा कि हम लोग मन की बात करने वालों में नहीं बल्कि दिल की बात करते हैं, मन भ्रमित करने वाला होता है। देश की एकमात्र कम्युनिस्ट पार्टी है जो हर तीन साल में अपना सम्मेलन करती है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन चार वर्षों से देश की जनता ने क्या-क्या जुल्म नहीं देखे बक्सर से लेकर प्रयागराज तक बहती लाशें, सैकड़ों मील पैदल चलते लोग, बेरोजग़ारी की भयावहता और इन सबके बावजूद झूठ का प्रोपोगेंडा।
अंजान ने कहा कि भाजपा में 34 प्रतिशत से ज्यादा क्रिमिनल सांसद विधायक हैं और वही बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ का नारा दे रहे हैं और देश में हो क्या रहा है, सबको पता है। यह किसानों, मजदूरों और मेहनतकशों का देश है और सरकार पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है। तीन काले कानूनों के द्वारा सरकार छोटे किसानों की जमीन हड़पना चाहती थी। किसानों ने संगठित तरीक़े से आंदोलन कर इस झूंठी और अहंकारी सरकार को नाको चने चबा दिया। आज महगाई,बेरोजग़ारी देश को बरबाद कर रही है। इस बरबादी के दौर में हमारी पार्टी परिवर्तन चाहती है। बेहतरी की तरफ़ परिवर्तन।
सत्र की मुख्य वक्ता कॉमरेड अमरजीत कौर ने कोरोनाकाल की भयावहता का जिक्र करते हुए बताया कि किस तरह मोदी सरकार ने महज़ चार घंटे के नोटिस पर देश की जनता को उसके हाल पर छोड़ दिया था और आपदा में अवसर का नारा देते हुए पूंजीपतियों के लिए रियायतें दी जा रही थीं। किस तरह पूंजीवाद निरंकुश होता है यह कोरोना काल में देखने को मिला और दुनिया भर में पूंजीवाद बेनकाब हुआ। मोदी सरकार जनता को रोजग़ार देने की जगह देश की संपत्ति को बेंच रही है। जबकि कारोना काल में यह स्पष्ट हो चुका है कि सार्वजनिक क्षेत्र ने ही लोगों की मदद की है और प्राइवेट सेक्टर उसी दौर में लोगों को नौकरी से निकालने के साथ ही पूंजी जुटाने में मशगूल था।
अमरजीत कौर ने कहा कि इस दौर में जब जनता को राहत की जरूरत है, इसके विपरीत पूंजीपतियों का घोड़ा मोदी सरकार उदयोगपतियों का टैक्स कम कर रही है और जनता पर टैक्स लाद रही है। उन्होंने कहा कि देश में भुंखमरी बढ़ रही है और मौजूदा बजट में फूड सिक्योरिटी का बजट घटा दिया गया। ग्रामीण मजदूरों के लिए जीवनदाई मनरेगा का बजट 98 हज़ार करोड़ से घटाकर 74 हज़ार करोड़ कर दिया गया है। इसी तरह शिक्षा और स्वास्थ्य का बजट घटा दिया गया। संघ के पदचिन्हों पर चलने वाली जनविरोधी सरकार देश में सांप्रदायिकता का ज़हर घोल रही है। आज देश में सौहाद्र कायम करने के लिए हम सबको काम करना होगा। पार्टी के प्रदेश सह सचिव व एटक नेता स्वागत समिति के अध्यक्ष हरिद्वार सिंह ने सभी अतथियों व पार्टी सदस्यों का स्वागत करते हुए बताया कि प्रदेश के इतिहास में पहला राजकीय सम्मेलन है जिसमें पार्टी के कद्दावर नेता अतुल कुमार अंजान व कॉमरेड अमरजीत कौर दोनों एक साथ उपस्थित हैं। उन्होंने इस आयोजन को ऐतिहासिक करार दिया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सीपीआई के राज्य सचिव अरविंद श्रीवास्तव ने कहा कि नर्मदा और सोन की भूमि आदिवासी बहुल शहडोल में राज्य सम्मेलन का उद्देश्य नए सिरे राजनीतिक चेतना का संचार करते हुए जनता के अधिकारों के लिए पार्टी को मजबूती के साथ खड़े करना है। आज संविधान को बचाने की लड़ाई है। वनाधिकार की लड़ाई, न्याय की लड़ाई आज और ज्यादा ताकत के साथ लडऩे की जरूरत है। कम्युनिस्ट पार्टी संगठित होकर जनता के हित के लिए वा परिवर्तन के लिए हमेशा से काम करती रही है और करती रहेगी।
सत्र में सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ही लेखक, बुद्धिजीवी व संस्कृतिकर्मी उपस्थित रहे। इस दौरान स्मारिका पुस्तिका का विमोचन, पोस्टर प्रदर्शनी व बुक स्टॉल लगाए गए हैं। कार्यक्रम के अंत में कलाकार पवन छिब्बर ने मनोरंजक प्रस्तुति दी व आदिवासी बेटियों द्वारा लोकनृत्य की प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का संचालन कॉमरेड विजेंद्र सोनी ने किया व आभार कॉमरेड अजीत जैन ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed