लगातार बढ़ रहा अतिक्रमण का रकबा, लेकिन कार्यवाहीं 5 पर ही क्यों…

(अजय जायसवाल)

शहडोल ।मुख्यालय से सटे ग्राम पंचायत कल्याणपुर में 700 से ज्यादा घर बने हुए हैं1971 से यहां अतिक्रमण का दौर चलता आ रहा है जिसके चलते शासकीय जमीनों पर बेजा कब्जा होता रहा है जिसकी शिकायतें भी आए दिन विभागों तक पहुंच रही थी वही शासकीय जमीनों की भी खरीद-फरोख्त का काम भी जोरों से चल रहा था कब्जे की भूमि को बेचकर भू माफियाओं ने लंबी काली कमाई भी कर रखी है जिसके चलते प्रशासन को काफी नुकसान भी उठाना पड़ा शुरू से ही मामला आए दिन अखबारों की सुर्खियां बना रहा करता था।

2011 में नोटिस के जरिए मचा था हड़कंप
5 फरवरी 2011 को डीएम की नोटिस से कल्याणपुर में अवैध निर्माण करने वाले अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया था वही कल्याणपुर निवासियों ने कलेक्ट्रेट सहित मंत्री का घेराव करने की बात कही थी जिला प्रशासन के उस नोटिस से कल्याणपुर के हजारों ग्रामीणों आक्रोशित हो गए थे।मामले में बताया गया कि कल्याणपुर स्थित शासकीय आराजी खसरा नंबर 16/ 5 /1 रकवा 29. 10 एकड़ तथा कोयलारी स्थित खसरा नंबर 120/ 1रकबा 5 एकड़ भूमि में शासकीय आवास बनाने के लिए एमपी हाउसिंग बोर्ड को आवंटित किया गया इस आवंटन में कल्याणपुर के लोगों में आक्रोश के स्वर फुट पड़े थे और उन्होंने हजारों की संख्या में प्रशासन के विरोध में नारेबाजी भी की थी हजारों ग्रामीण आक्रोशित स्वर में कहा था कि कल्याणपुर के उक्त खसरो में पूरा गांव बसा हुआ है यहां लगभग 700 से ज्यादा घर बने हुए हैं और 5000 से अधिक निवासरत है ग्रामीणों ने जिले के तत्कालीन प्रभारी मंत्री देवी सिंह शैयाम सहित कलेक्टर एवं एसडीएम को ज्ञापन सौंपा था जिसमें मांग की गई थी कि एमपी हाउसिंग बोर्ड को प्रस्तावित कल्याणपुर की भूमि को तत्काल स्थगित किया जाए और हजारों ग्रामीणों को बेघर होने से बचाया जाए जिला प्रशासन के कल्याणपुर ग्राम में हाउसिंग बोर्ड बनाने संबंधी इसकी सूचना भी इश्तहार में प्रकाशित कराई गई थी तत्पश्चात ग्राम पंचायत में समस्त ग्रामीणों ने 1 ग्राम सभा के प्रशासन के इस आदेश को अनुचित ठहराया था एवं ग्रामीणों के द्वारा आपत्ति दर्ज कर ग्राम सभा में आवाज लगाई गई थी सभी के द्वारा ग्राम सभा में यह निर्णय लिया गया था कि जब तक शासन द्वारा जमीन का मालिकाना हक नहीं दिया जाता तब तक यहां कोई निर्माण कार्य बिना पंचायत के अनुमति के नहीं करवाया जाएगा।

पूरी पंचायत में फैला अतिक्रमण का जाल, निशाने पर केवल 5 ही क्यों ..?
जी हां यह सवाल उठता है कल्याणपुर की ग्राम पंचायत में सैकड़ा भर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है लेकिन कार्यवाही सिर्फ 5 लोगों पर ही क्यों
सुबह से ही अतिक्रमण की कार्यवाही ने लोगों को सकते में डाल दिया लोगों का कहना है कि ग्राम पंचायत कल्याणपुर में ज्यादा से ज्यादा लोगों ने अतिक्रमण कर बाउंड्री बना रखी है लेकिन प्रशासन उस और कार्यवाही नहीं कर रहा है जबकि केवल 5 लोगों पर ही यह कार्यवाही क्यों की जा रही है कल्याणपुर में ही कई माफियाओं द्वारा बड़े-बड़े भवन बना कर औने पौने दामों में उन्हें सेल आउट किया जा रहा है लेकिन आज भी यहां के अतिक्रमणकारियों का नाम प्रशासन की सूची में क्यों नहीं है वही स्थानीय लोगों का कहना है कि महर्षि विद्यालय भी अतिक्रमण में माना जा रहा है लोगों का यह भी कहना है कि पिछले 50 साल से लोग यहा धीरे-धीरे शासकीय जमीनों पर अतिक्रमण किए जा रहे हैं तो प्रशासन द्वारा क्यों इन्हें अतिक्रमण करने के लिए छोड़ दिया गया था यदि समय रहते यह कार्यवाही की जाती तो इतने बड़े रकबे में अवैध कब्जा नही होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *