48 पिलर पर खड़े 1433.51 मीटर लंबे रेलवे ओवर ब्रिज कम फ्लाई ओवर का मुख्यमंत्री 7 अप्रैल को करेंगे लोकार्पण

48 पिलर पर खड़े 1433.51 मीटर लंबे रेलवे ओवर ब्रिज कम फ्लाई ओवर का मुख्यमंत्री 7 अप्रैल को करेंगे लोकार्पण


कटनी ॥ नव निर्मित मिशन चौक रेलवे ओवर ब्रिज 85 करोड़ 49 लाख 45 हजार रूपये की लागत से बने प्रदेश का सबसे ऊँचा रेलवे ओवर ब्रिज जबलपुर संभाग के कटनी शहर में बनकर तैयार हो गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरूवार 7 अप्रैल के प्रस्तावित प्रवास के दौरान रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद इस ओवर ब्रिज पर ट्रैफिक दौड़ने लगेगा। नव निर्मित मिशन चौक रेलवे ओवर ब्रिज 85 करोड़ 49 लाख 45 हजार रूपये की लागत से बना है। कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के द्वारा ब्रिज निर्माण कार्य के प्रगति की नियमित समीक्षा एवं निरीक्षण करने की वजह से ब्रिज का निर्माण समय पर पूरा हो सका। इसको प्रदेश का सर्वाधिक ऊँचा ब्रिज होने का गौरव हासिल है। रेलवे लाइन के ऊपर यह ओवर ब्रिज 18.04 मीटर ऊँचा है। अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण सेतु संभाग प्रमोद गोंटिया ने बताया कि यहाँ रेलवे द्वारा प्रदेश का पहला ग्रेड सेपरेटर बनाया जा रहा है, इसलिये इसकी क्लियरिंग देने के लिये ब्रिज की ऊँचाई बढ़ाई गई है। ब्रिज के निर्माण में इंजीनियरिंग की अत्याधुनिक तकनीक और सामग्री का प्रयोग किया गया है। ब्रिज पर शोर में कमी के लिये नोइज बैरियर लगाया गया है। 48 पिलर पर खड़े इस रेलवे ओवर ब्रिज कम फ्लाई ओवर की बरगवाँ से चांडक चौक तक कुल लंबाई 1433.51 मीटर है। ब्रिज की भारवाहन क्षमता 70 टन हैं। ब्रिज में कुल 47 स्पॉन हैं, जिसमें 51-51 मीटर के दो ऐसे स्पॉन हैं, जिनके एक गर्डर का वजन डेढ़ सौ टन और ऊँचाई तीन मीटर हैं। इसकी निर्माण एजेंसी लोक निर्माण सेतु संभाग जबलपुर हैं। अनुविभागीय अधिकारी प्रमोद गोंटिया ने बताया कि अगले तीन साल तक अर्थात 31 मार्च 2025 तक इसका मेन्टीनेंस कार्य संबंधित ठेकेदार द्वारा ही किया जायेगा। इस रेलवे ओवर ब्रिज से कटनी के रहवासियों को ट्रैफिक जाम की झंझट से मुक्ति मिलेगी, आवागमन सुगम होगा और शहर का ट्रैफिक सिस्टम बेहतर होगा। साथ ही कटनी शहर से जबलपुर के बीच आवागमन करने वाले नागरिकों को पहले लगने वाले जाम की समस्या का सामना भी अब नहीं करना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *