कमिश्नर ने बाणसागर डैम का किया निरीक्षण

 

शहडोल। 25 अप्रैल को कमिश्नर शहडोल संभाग श्री राजीव शर्मा ने शुक्रवार को बाणसागर डैम का दृष्टिकोण किया। निरीक्षण के दौरान कमिश्नर ने अधिकारियों से डैम की पानी भराव क्षमता और विद्युत उत्पादन इकाई के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

2 लाख 93 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को मिल रही है सिंचाई सुविधा

चर्चा के दौरान जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने कमिश्नर को बताया कि बाणसागर डैम हर साल पूरा भरता है और वर्तमान में 2 लाख 93 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को सिंचाई की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि बाणसागर डैम की नहरें बन गई हैं, मझगांव लिफ्ट और तियनथर केलाल लगभग बनकर तैयार है। अधिकारियों ने बताया कि बाणसागर डैम में 60 मेगा वाट का पावर प्लांट स्थापित है। देखने के दौरान कमिश्नर ने बाणसागर डैम में मत्स्य उत्पादन गतिविधियों के संबंध में जानकारी ली।

मत्स्य उत्पादन से प्रतिवर्ष 30 करोड़ का राजस्व होता है

चर्चा के दौरान मत्स्य महासंघ के अधिकारियों ने कमिश्नर को बताया कि बाणसागर डैम में मत्स्य उत्पादन की गतिविधियों का विस्तार किया गया है। प्रतिवर्ष लगभग 30 करोड रुपए मत्स्य उत्पादन से शासन को राजस्व प्राप्त हो रहा है। बाणसागर डैम की मछलियों गुवाहाटी, सिलीगुड़ी, हवड़ा आदि शहरों को भेजी जाती है। मत्स्य अधिकारी ने बताया कि क्रीमुआरों की कमी के कारण बाणसागर डैम में मत्स्य आखेट नहीं हो पा रहा है। उन्होंने बताया कि लगभग 1500 मत्स्यपालन करने वाले लोग क्रीमुआरों की बाणसागर डैम क्षेत्र में आवश्यकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *