पुलिस की गिरफ्त में आए बदमाश,फोन-पे पर सक्सेसफुल का मैसेज दिखाकर ऐंठ लेते थे रकम

पुलिस की गिरफ्त में आए बदमाश,फोन-पे पर सक्सेसफुल का मैसेज दिखाकर ऐंठ लेते थे रकम

 कटनी ॥ धोखाधड़ी के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। आए दिन धोखाधड़ी के मामले सामने आ रहे हैं। कहीं शादी कराने के नाम पर , तो कही ऑनलाइन पैसा निकालने के नाम पर सहित अन्य तरीको से धोखाधड़ी के मामले में वृद्धि हुई है! ठगी और धोखाधड़ी के बढ़ रहे मामलों को पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने गंभीरता से संज्ञान में लिया और एक गिरोह का पर्दाफाश कराया है। नगर पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला ने बताया कि महेन्द्र अहिरवार निवासी कैलवारा मोड नदी पार कटनी की माया ऑनलाइन दुकान में एक अज्ञात व्यक्ति आकर बोला कि उसके दोस्त का एक्सीडेंट हो गया है। उसके पास नगद रुपये नहीं है। आधार कार्ड से 20 हजार रुपये निकालने की बात की। युवक ने बताया कि आधारकार्ड से 20 हजार रुपये नहीं निकलेगा, तब आरोपी ने कहा कि उसके खाते में पैसे हैं जो वह प्रार्थी की दुकान में लगे क्यूआर कोड को स्कैन कर 15 हजार 150 रुपये फोन-पे के माध्यम से पेमेंट कर के सक्सेसफुली मैसेज प्रार्थी को दिखाया।
पैमेंट डिलेवरी का मैसेज नहीं आने पर प्रार्थी ने आरोपी से पैमेंट नहीं आने की बात कही लेकिन आरोपी सर्वर प्रॉब्लम होने की बात करते हुए युवक को विश्वास में लेकर उससे नगद 15 हजार रुपये लेकर चंपत हो गया। जब युवक को पता चला कि यह तो उसके साथ ठगी हुई है। जिसके बाद 18 दिसंबर को थाना कुठला में एफआइआर कराई। कुठला थाना प्रभारी रोहित डोंगरे ने टीम गठित कर अज्ञात आरोपी के संबंध में प्रार्थी के दुकान में लगे सीसीटीव्ही कैमरे की फुटेज के आधार पर व साइबर सेल से जानकारी प्राप्त कर तलाश की।
आरोपी निशांत द्विवेदी व उसके साथी अतुल गौतम शर्मा दोनों निवासी रीवा को थाना अमदरा जिला सतना के पास एक ढाबे से अभिरक्षा में लेकर थाना लाया। आरोपियों से सख्ती से पूछताछ करने पर जुर्म करना स्वीकर किया। जानकारी के अनुसार ये ठग अमरपाटन, मैहर, सतना, कटनी के ऑनलाइन दुकानदारों को मोहरा बनाकर फर्जी मोबाइल एप के जरिये पैमेट करना। अपनी परेशानी बताकर बेईमानी पूर्वक रकम बसूलने की बात बताई। आरोपियों के पास से 15 हजार रुपये , एक एन्डराइड मोबाईल फोन व मोटरसाइकिल जप्त की गई है। अरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *