मरणासन्न हो चुका खनिज विभाग!

माफिया खुलेआम कर रहे अवैध खनन-परिवहन

शहडोल। इन दिनों जिले में अवैध खनन और परिवहन के नाम पर ‘अंधे नगरी चौपट राजाÓ वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। जिले में कहीं पर भी माफिया खुलेआम अवैध खनन व परिवहन कर रहे हैं, जिसे रोकने वाला कोई नहीं है। जानकारों की मानें तो अधिकांश मामलों में खनिज विभाग की मूक सहमति व प्रशासन की अनदेखी है। खनन माफिया खुलेआम खनिज संपदा का दोहन कर रहे हैं और जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे। शहर से कुछ किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम नरवार, छीरसागर, कसेढ़ घाट बुढ़ार में खुलेआम रेत, मुरूम, मिट्टी सहित अन्य खनिज का अवैध तरीके से उत्खनन व परिवहन हो रहा है। खुलेआम दिनदहाड़े जेसीबी, हाइवा लागकर अवैध तरीके से खनन व परिवहन कर रहे हैं, लेकिन लुटती खनिज संपदा को बचाने वाला कोई नहीं है।
खुलेआम चल रही चोरी
जिले में मुरूम की संभवत: एक भी मुरूम खदान स्वीकृत नहीं है, लेकिन जिले की लगभग पंचायतों में बगैर मुरूम खदानों के वेण्डरों द्वारा मुरूम की सप्लाई की जा रही है, मजे की बात तो यह है कि शासकीय कार्यो में भी बिना रायल्टी के धड़ल्ले से खनिज का उपयोग किया जा रहा है। ऐसा नहीं है कि यह चोरी-छुपे हो रहा है, सबकुछ ऑनलाईन हो रहा है, लेकिन एक ओर पंचायत के जिम्मेदार चोरी के खनिज का शासकीय राशि से भुगतान कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर जिले का खनिज अमला सुस्त पड़ा हुआ है। इसके अलावा जिले में अवैध रेत खनन भी इन दिनों चरम पर है, पुलिस द्वारा समय-समय पर कार्यवाही भी की जाती है, लेकिन खनिज विभाग द्वारा बीते लगभग 1 वर्ष के दौरान संभवत: अपना कार्य ही भूल चुके हैं।
लुट रही खनिज संपदा
जिले में रेत, मुरम, गिट्टी, मिट्टी सहित अन्य खनिज संपदा के मनमाने दोहन को रोकने, मानकों के अनुसार ही खदान स्वीकृत करने व माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए खनिज विभाग मुस्तैद है, लेकिन यह विभाग सिर्फ रस्मअदायगी कर रहा है। जिला खनिज को अवैध खनन, परिवहन से कोई सरोकार नहीं हैं। सिर्फ कागजी कोरम पूरा किया जा रहा है। रेत माफिया खुलेआम नदियों का सीना छलनी कर रहे हैं, खनिज संपदा लुट रही है। सत्ता और विपक्ष के लोग भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे।
छूट जाते हैं वाहन
जिले भर में अवैध खनिज का दोहन लगातार किया जा रहा है। यहां खनिज माफिया रेत, पत्थर की ढुलाई खुलेआम कर रहे है। जिन पर प्रशासन अंकुश लगाने में नाकामयाब साबित हो रहा है। जिले के समीपस्थ कई क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रेत का अवैध उत्खनन, पत्थरों की अवैध खुदाई की जा रही है। कई बार पुलिस द्वारा अभियान चलाकर बड़े पैमाने पर अवैध रेत और पत्थर के वाहन जब्त किये जाते है, पुलिस द्वारा 379 एवं 4/21 खनिज अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाता है, लेकिन अवैध परिवहन करने वाले वाहन छूट जाते हैं, उन पर जुर्माना किया जाता है, चर्चा है कि खनिज विभाग में अवैध परिवहन-उत्खनन के मामले में पकड़े गये वाहनों की फाईल धूल खा रही हैं। स्थानीय लोगों ने कलेक्टर से मांग की है कि पूरे मामले में संज्ञान लेकर कार्यवाही की जाये, जिससे शासन को राजस्व मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed