कटनी में मेडिकल कॉलेज एवं इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का मुद्दा विधानसभा में गूंजा,विधायक संजय पाठक ने कटनी जिले के सर्वांगीण विकास के जरूरी मुद्दे को उठाया

कटनी में मेडिकल कॉलेज एवं इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का मुद्दा विधानसभा में गूंजा,विधायक संजय पाठक ने कटनी जिले के सर्वांगीण विकास के जरूरी मुद्दे को उठाया

कटनी । किसी भी जिले या नगर के सर्वांगीण विकास में उद्योगों के साथ ही गुणवत्तापूर्ण तकनीकी उच्चशिक्षा एवं स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाओं वाले संस्थानों जिनमें मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज की बड़ी भूमिका होती है कटनी जिला वर्षो से इन छोटे बड़े उद्योगों के लिए जाना जाता रहा है इन उद्योगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए समर्पित, गुणवत्तापूर्ण, टेक्नो मैनेजमेंट एवं इंडस्ट्री रेडी वर्क फोर्स तैयार करने एवं कटनी जिले एवं आसपास के पन्ना,उमरिया,मैहर से लगे क्षेत्र के निवासी स्वास्थ्य जरूरतों इलाज के लिए कटनी आते है । इन्हीं सभी विषयों एवं कटनी के लिए जरूरी आवश्यकताओं को ध्यान रखते हुए विजयराघवगढ़ विधायक संजय पाठक द्वारा विधानसभा में ध्यानाकर्षण के माध्यम से सवाल लगाया उन्होंने सदन में विभागीय मंत्री से कटनी में मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापना के सम्बन्ध में सवाल उठाते हुए पूंछा की कटनी जिला राजस्व के मामले में पूर्व से ही प्रदेश में प्रमुख स्थान रखता है यह एक प्रमुख रेल्वे जंक्शन व सड़क मार्ग से आसपास के जिलों से जुड़ा हुआ है जहां से हजारों लोग अपनी नियमित जरूरतों के साथ ही स्वास्थ्य सम्बन्धी इलाज के लिए कटनी आते है पर कटनी एक शासकीय चिकित्सायालय होने व सुविधाएं कम होने से एक स्तर के बाद आगे के अच्छे इलाज के लिए उनको जबलपुर मेडिकल कॉलेज या अन्य जगहों पर जाना पड़ता है जिससे नागरिकों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है मेडिकल कॉलेज निर्माण से कटनी सहित आसपास दस से अधिक जिलों के बच्चों को यही एडमिशन प्राप्त होगा । इसी तरह रोजगार मुखी गुणवत्तापूर्ण तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने के लिए पारंपरिक और पुरानी शिक्षण पद्धति को छोड़कर नई एवं विश्वस्तरीय तकनीकी शिक्षा पाने के लिए उत्साहित एवं बेताब छात्रों के इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना की जाए। इंजीनियरिंग कॉलेज व मेडिकल कॉलेज खोलने की मांग लगातार पूर्व में भी जनप्रतिनिधियों व आम जनता द्वारा भी उठाई जाती रही है मांग पूरी न होने से छात्रओं एवं आम जनता में भारी रोश व्याप्त है उल्लेखनीय है कि कटनी में प्राइवेट पार्टनरशिप मेडिकल कॉलेज न खोलकर शासकीय मेडिकल कॉलेज खोला जाए जिससे प्रबंधन छात्रों से मनमानी फीस न वसूल सके और छात्रों का आर्थिक शोषण न हो। विभागीय मंत्री इस ध्यानाकर्षण पर जवाब देते उसके पूर्व ही विपक्ष द्वारा हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.