पुलिस ने आपरेशन मुस्कान के तहत परिजनों से बिछड़ी बच्ची को मिलाया।

 

 

 

सोनभद्र(उत्तर प्रदेश): मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले से लगे अंतर राज्य उत्तर प्रदेश का जिला सोनभद्र के शक्तिनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आपरेशन मुस्कान के तहत अपने परिजनो से बिछड़ी आठ वर्षीय बच्ची को पुलिस ने उसके माता पिता से मिलाया।

जाने पूरा मामला

प्रभारी निरीक्षक मिथलेश मिश्रा ने रात्री में गश्त के दौरान आठ वर्षीय लडकी को बलिया नाला सड़क पर भटकते हुए पाया , तो बच्ची से उसका नाम, माता-पिता व घर के बारे में जानकारी जाननी चाही। पर बहुत मुश्किल से बच्ची ने अपना नाम पूनम उम्र 8 वर्ष बताया। रात्री होने की वजह से बच्ची को थाना लाकर कांस्टेबल विकास सिंह द्वारा खाना खिलाया गया। बच्ची को नंगे पैर देखकर बाज़ार से नया चप्पल मंगाकर कांस्टेबल विकास सिंह ने अपने हाथों से बच्ची के पैर में पहनाया।

सुबह बच्ची के घर का पता चलने पर थानाध्यक्ष ने बच्ची के पिता विजय गौड व मां जिरेमन देवी निवासी लाइव रंपा कुरल बभनी जनपद सोनभद्र को थाने पहुचने को कहा। थाना पहुंचे परिजन अपनी बच्ची को पाकर माता पिता की आंखे नम हो गई और थानाध्यक्ष को इसके लिए तहेदिल से शुक्रिया अदा किया।

इनका कहना है

वहीं थानाध्यक्ष मिथिलेश मिश्रा ने बताया की आपरेशन मुस्कान के तहत हमे कई बार काफी परेशानियों का सामना करना पडता है लेकिन लोगों की दूआओ से हमारा हौसला बढता है और हमे कार्य करने में बल मिलता है।

बरहाल जहां एक तरफ अबोध बालिका अपने परिजनों को पाकर खुश हुई वहीं दूसरी तरफ आपको बताते चलें कि शक्तिनगर थाने में इस तरह का कोई यह पहला दृश्य नहीं है इससे पूर्व में भी न सिर्फ मानव जाति के लिए पुलिस वरदान साबित हुई बल्कि कुछ माह पूर्व में घायल बंदर को भी शक्तिनगर थाना स्टाफ के द्वारा इलाज करा कर उसकी देखभाल की गई थी। अगर हम कॉन्स्टेबल विकास सिंह की बात करें तो यह काफी लोकप्रिय हैं स्थानीय जनता इन्हें काफी पसंद करती है आपरेशन मुस्कान टीम में थानाध्यक्ष के साथ कांस्टेबल विकास सिंह, पंकज कुमार व महिला कांस्टेबल सुमन सरोज मौजूद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *