कोरोना वारियर्स की छटनी आदेश हो निरस्त: विधायक  कर्मचारियों की आजीविका इसी कार्य पर निर्भर

Shambhu@9826550631
शहडोल। कोविड-19 के अंतर्गत कार्यरत समस्त अस्थायी कर्मियों को संविदा/ नियमित में संविलियन किये जाने के संबंध में जैतपुर विधायक मनीषा सिंह ने मुख्यमंत्री से मांग की है साथ ही कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना में शामिल करने व प्रतिमाह 10000 रूपये प्रोत्साहन दिये जाने के साथ ही कोविड-19 में कार्यरत कोरोना वारियर्स डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टॉफ एवं सफाई कर्मचारी को कोरोना महामारी के चलते स्थायी/संविदा नियुक्ति का आदेश जारी कराने एवं कर्मचारियों की छटनी आदेश को निरस्त किया जाये।
यह लिखा पत्र में
जैतपुर विधायक श्रीमती मनीषा सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि कोविड-19 महामारी में विषम परिस्थितियों में समस्त कोविड स्वास्थ्य कर्मचारियों ने पूर्ण कर्तव्य निष्ठा से मेरे विधानसभा क्षेत्र के सभी स्वास्थ्य, मेडिकल कॉलेज, जिला चिकित्सालय, की ओपीडी एवं कोविड सेंटर सहित सभी स्वास्थ्य खण्डो में अपनी सेवाये प्रदान की गई हैं। परन्तु इन स्वास्थ्य कर्मचारियों को शासन द्वारा कोई सुविधा प्रदाय नहीं की जा रही है, जिसमें बताया गया है कि कर्मचारी द्वारा कोविड-19 महामारी में विपरीत परिस्थितियों में अपने परिवार की चिंता करे बिना कार्य को अंजाम दिया गया है। कर्मचारियों की आजीविका इसी कार्य पर निर्भर है।
छटनी आदेश करें निरस्त
विधायक ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि जिस तरह से मलेरिया विभाग के अस्थायी एवं होम गार्ड (उज्जैन कुंभ)  कर्मचारियों का अनुबंध खत्म करके उन्हें स्थायी/ संविदा कर्मचारी का दर्जा प्रदाय किया जाये, कोविड-19 कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि 10 हजार रूपये प्रदाय किया जाये, कोरोना योद्धाओं का 50 लाख का बीमा कराया जाये। समस्त कोविड-19 कर्मचारियों  को एक समान वेतन प्रदाय किया जाये। कोविड-19 में कार्यरत कोरोना वारियर्स डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टॉफ एवं सफाई कर्मचारी को कोरोना महामारी के चलते स्थायी/संविदा नियुक्ति का आदेश जारी कराने एवं कर्मचारियों की छटनी आदेश को निरस्त किया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *