भारतीय स्टेट बैंक की निर्ममता आयी सामने, 62 वर्षीय बीमार मां को हाथ ठेला में लेटा कर आधार लिंक कराने पहुंचा मजबूर पुत्र

संदीप तिवारी 9039400986

नौरोजाबाद। आज भारतीय स्टेट बैंक की शाखा नौरोजाबाद में लकवा पीड़ित महिला शकुन बाई उम्र 62 वर्ष को उसके पुत्र के द्वारा हाथ ठेले में बैठा कर भारतीय स्टेट बैंक लाना पड़ा। बताया जा रहा है पीड़ित महिला को अपने बचत खाते में आधार लिंक करना था। जिसके लिए बैंक प्रबंधन जिद पकड़ कर बैठ गया की, जब तक खाता धारक महिला बैंक नहीं आएगी तब तक आधार खाते से लिंक नहीं होगा। तब पीड़ित महिला का पुत्र मज़बूर हो कर अपनी माँ को हाथ ठेले में लिटा कर बैंक लाना पड़ा, वहीं जब यह मामला मीडिया में आया तो बैंक प्रबधन तरह तरह के बहाने बनाने लगा जबकि नियम के मुताबिक 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोग जो गम्भीर बीमारी से पीड़ित होते है। उन्हें बैंक अपनी सेवाएं उनके घर जा कर दे सकते है। पर इस मामले में बैंक ने ऐसा नहीं किया वर्तमान में कोरोना काल चल रहा है ऐसे गंभीर मरीज अगर सार्वजानिक जगहों में जायेगे और कही किसी बीमार के संपर्क में आ गए तो ऐसे मरीज जल्द ही संक्रमित हो जाएंगे। यह पहला मामला नहीं है कि एसबीआई बैंक के लोग इस तरह की जीद पाले बैठे हैं कई पीड़ित आज भी ऐसे हैं जो बैंक तक नहीं पहुंच पा रहे हैं और उनकी रकम बैंक में पड़े हैं। और एक दिन शासकीय खजाने में चली जाती है। इस तरह की अनेक घटनाएं हैं जिन्हें मीडिया द्वारा दिखाया तो जाता है लेकिन बैंक प्रबंधन के ऊपर कोई भी कार्यवाही नहीं हो पाती।

आम लोगों में विश्वास मुखिया कार्यवाही के साथ, करेंगे न्याय

हमारा विश्वास है कि जिस तरह से जिले में कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव द्वारा आम लोगों के हितों का ध्यान और अधिकारों की रक्षा की जा रही है निश्चित रूप से इस बार इस मामले पर कोई कार्यवाही जरूर की जाएगी जिससे भविष्य में इस तरह की घटना अन्य लोगों के साथ न घट सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *