माह भर से गुमे वाहन पर कोतवाली पुलिस की चुप्पी…!

शहडोल। शहर सुरक्षा व देशभक्ति जन सेवा के लिए सदैव तत्पर रहने वाली कोतवाली पुलिस इन दिनों अपने नेटवर्क से ही फेल होती नजर आ रही है गुम हुए वाहन की पतासाजी तो दूर फरियादी से पूछ परख तक करने में कतरा रही है अब यह मानना लाजमी होगा कि माह भर से घूमे वाहन पर कोतवाली पुलिस की चुप्पी कहीं किसी घटना को अंजाम न दे दे ।

यह है मामला
कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत बीते माह 23 अगस्त की शाम 5:00 बजे बुढ़ार रोड के पास चित परिचित दोस्त ने बेटी को डॉक्टर के पास चेकअप कराने के बहाने बाइक देना महंगा पड़ गया दरअसल मामला दीपक तिवारी पिता उमाकांत तिवारी कट्टी मोहल्ला वार्ड नंबर 22/ 29 ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई है कि परिचित के दोस्त पुनीत गुप्ता ने अपनी बेटी की तबीयत खराब हो जाने पर डॉक्टर से चेकअप कराने के बहाने गाड़ी mp18mq 2140 tvs sport मांगी जिस पर भावनात्मक बस दीपक ने अपनी गाड़ी पुनीत को दे दी लेकिन काफी देर तक नहीं आने पर काफी खोजबीन की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला वही जानकारी जुटाने पर कई दिनों तक शहडोल व अनूपपुर के राजेंद्रग्राम सहित सामतपुर व अन्य परिजनों के घरों पर पूछ परख की गई लेकिन कुछ भी पता नहीं चला वही थक हार कर पीड़ित ने इसकी सूचना 2 सितंबर को कोतवाली में की गई।

माह भर बाद भी पुलिस के हाथ खाली
गुम वाहन की सूचना कोतवाली में देकर पीड़ित व उनके परिजन व मित्रों ने पुनीत गुप्ता को ढूंढने का काफी प्रयास किया यही नहीं जांच कर रहे महेंद्र नामक पुलिसकर्मी ने शहडोल स्थित किराए से रह रहे पुनीत के घर पर जानकारी जुटाई गई लेकिन उसके बाद आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई पीड़ित ने बताया कि माह भर बीतने को जा रहे हैं लेकिन कोतवाली पुलिस पुनीत गुप्ता को ढूंढने में नाकाम हो रही है जबकि लोगों ने बताया कि पुनीत गुप्ता कहीं घरौला मोहल्ला तो कहीं स्थानीय गायत्री मंदिर के पास किराए का कमरा लिया परिवार के साथ रह रहा है।

आपराधिक घटना का अंदेशा
पीड़ित ने यह भी आरोप लगाया है कि पुनीत गुप्ता कई बार उल्टी-सीधी हरकतों में रहा है जिसका रिकॉर्ड वर्तमान में खराब है जिसे राजेंद्रग्राम थाने में भी किसी मामले में पकड़ा गया था जिसकी वजह से चोरी किए हुए वाहन से कहीं कोई अपराधिक घटना को कारित कर दे इस घटना की आशंका से पीड़ित का परिवार काफी डरा सहमा हुआ है वही पुनीत गुप्ता की खोज खबर में के लिए दीपक सहित अन्य लोग सूचना मिलने पर उनके परिजनों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन पुनीत गुप्ता का कोई पता नहीं चल रहा है वहीं परिजनों ने इसकी जानकारी अब पुलिस अधीक्षक को देने की बात कही है साथ ही उक्त गाड़ी की जानकारी व पुनीत गुप्ता का पता बताने वाले व्यक्ति को उचित इनाम देने की भी बात कही है। साथ ही इसकी सूचना थाना कोतवाली में दी जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *