*जिले के सभी ग्रामों के हर घर में नल से जल के कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण किया जाए-कलेक्टर*  *जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक में नल-जल के कार्यों की हुई विस्तृत समीक्षा* 

गिरीश राठौर

अनूपपुर / जिले के सभी ग्रामों को हर घर जल से आच्छादित करने के लिए प्रभावी प्रयास सुनिश्चित किए जांए, जिससे शासन की प्राथमिकता के इस कार्यक्रम को समय पूर्व पूर्ण किया जा सके। उक्ताशय के निर्देश जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना ने दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के उपाध्यक्ष श्री सोजान सिंह रावत, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी खण्ड अनूपपुर के कार्यपालन यंत्री श्री जितेन्द्र मिश्रा, जल निगम परियोजना क्रियान्वयन इकाई शहडोल के महाप्रबंधक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.सी. राय, शिक्षा, आईटीडीपी, जल संसाधन, कृषि, महिला बाल विकास, विद्युत विभाग के अधिकारी तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहायक यंत्री, उप यंत्री उपस्थित थे।

 

बैठक में कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना ने जल जीवन मिशन अंतर्गत जिले के समस्त लोगों को हर घर नल से जल योजना के एक्‍शन प्लान पर चर्चा करते हुए अद्यतन जानकारी की बिन्दुवार समीक्षा की। उन्होंने डीपीआर तथा सफल नलकूप स्त्रोतों की संभावना न होने से छूट रहे ग्रामों को कैसे कव्हर किया जाए इस पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, जल निगम व जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को संबंधित ग्रामों का मौका भ्रमण कर अद्यतन स्थिति से अवगत कराने के निर्देश दिए। बैठक में ग्रामों के कव्हरेज के एक्‍शन प्लान एकल ग्राम जल योजनाओं के डीपीआर की प्रगति, सफल नलकूप न मिलने की संभावना वाले ग्राम, छूट रहे ग्रामों को समाहित करते हुए सतही स्त्रोत आधारित समूह योजनाओं के प्रस्ताव पर विभागीय अधिकारियों से चर्चा की गई। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि विकासखण्ड पुष्पराजगढ़ के 59 ग्रामों के लिए जोहिला नदी पर आधारित समूह योजना का प्रस्ताव व जैतहरी विकासखण्ड के तिपान नदी पर आधारित समूह योजना का प्रस्ताव तैयार किया गया है। उन्होंने बैठक में जिले के 15 ग्रामों में रेट्रोफिटिंग योजनाओं के प्रस्ताव तथा 194 ग्रामों की बढ़े हुए जीएसटी दर के अनुरूप संशोधित प्रस्तावों के संबंध में जानकारी दी। बैठक में बताया गया कि जिले के चारों विकासखण्डों के 279 ग्राम पंचायतों के 577 राजस्व ग्रामों की 621600 जनसंख्या के 129624 परिवारों को हर घर जल से लाभान्वित किए जाने की कार्ययोजना है, जिसके तहत 76 ग्रामों में एफ.एस.टी.सी. का कार्य हुआ है, जो जिले का 44.69 प्रतिशत है। कार्यपालन यंत्री ने बैठक में बताया कि वर्ष 2024 तक जिले के 447 ग्रामों का जल आच्छादन किया जाएगा, जिससे हर घर जल सुलभता से प्राप्त हो सकेगा। उन्होंने बताया कि 01 सितम्बर 2022 की स्थिति में 34 ग्राम हर घर जल से पूर्ण हो गए हैं। शेष 413 ग्राम के लिए समय-सीमा सुनिश्चित की गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 तक 151 तथा वर्ष 2024 तक 262 ग्राम के हर घर को जल आच्छादित किया जाएगा।

 

बैठक में स्कूल एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल-जल तथा प्रकाश व्यवस्था के लिए विद्युत कनेक्‍शन के संबंध में कार्यपालन यंत्री को निर्देशित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed