पैसों के लेनदेन को लेकर युवक को घर में दबंगों ने बंद कर बेरहमी से पीटा @ इलाज के दौरान हुई मौत, परिजनों ने किया चक्का जाम, मौके पर पुलिस अधिकारी

 

शहडोल। संभागीय मुख्यालय के पुरानी बस्ती क्षेत्र में रहने वाले विनय कुमार मौर्य नामक 28 वर्षीय युवक को पुरानी बस्ती के lavkush स्कूल के सामने दुष्यंत सिंह पिता मिंटू सिंह राहुल शुक्ला, मनीष शुक्ला निवासी कल्याणपुर आदि ने पैसों के लेनदेन को लेकर बीती 2 सितंबर की रात इस कदर मारपीट की थी उसकी पेट के अंदर की आते फट गई।

 

घटना के संदर्भ में यह बताया गया कि यूवक की बीते दो दिवस पहले इलाज के दौरान जबलपुर में मौत हो गई, कल जबलपुर में शव विच्छेदन की प्रक्रिया तथा अन्य कागजी कार्यवाही कर परिजन पुरानी बस्ती स्थित अपने घर पहुंचे। परिजनों का आरोप था कि उन्होंने घटना के अगले दिन ही स्थानीय थाने में मारपीट की शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने उस मामले को गंभीरता से नहीं लिया, हालांकि पुलिस का कहना है कि शिकायत मिलते ही मारपीट की धाराओं के तहत आरोपियों के खिलाफ अपराध कायम किया गया था, क्योंकि उसके बाद पीड़ित युवक शहडोल से जबलपुर इलाज कराने के लिए चला गया था, इस दौरान आगे की स्थिति न तो परिजनों के द्वारा बताई गई और नई पुलिस के पास पहुंची इस कारण उसमें आगे कुछ नहीं हुआ।

इस बीच अभी से कुछ घंटे पहले युवक के परिजनों और आसपास के मोहल्ले वालों ने मिलकर युवक की  लाश सड़क पर रख दी है तथा कथित अपराधियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने के साथ ही उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं, हालांकि बीती रात ही जब पुलिस को इस बात की जानकारी लगी  मामले को संज्ञान में ले चुकी थी, साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर मुखबिरों का जाल बिछा रखा है और उनकी लगातार तलाश भी की जा रही है।

यह भी जानकारी सामने आई कि 2 सितंबर की रात shahdol चौपाटी के समीप मृतक स्टेशनरी की दुकान पर काम करता था, 2 सितम्बर की रात अपना वेतन लेकर घर लौट रहा था, कथित हत्यारों से उसका पुराना कोई लें-देंन था या नहीं या तो वही जाने लेकिन इसी कारण सम्भवतः तीनो युवकों ने मिलकर उसे पकड़ लिया और एक कमरे में ले गए और उसे बांधकर पीटा कि उसके शरीर के बाहर तो नही अंदुरुनी हिस्से में  काफी चोट आई थी किसी कदर देर रात अपने घर पहुंचा और परिजनों को जानकारी बताई।

अगले दिन सुबह परिजन उसे लेकर जिला चिकित्सालय पहुँचे जहाँ ड्यूटी पर तैनात किसी डॉक्टर अंबेडकर ने युवक का परीक्षण किया और सामान्य दवाएं देकर रवाना कर दिया, दो दिन बाद युवक फिर परिजनों के साथ चिकित्सालय पहुंचा उस समय भी युवक की मुलाकात उसी डॉक्टर अंबेडकर से हुई परिजनों के अनुनय करने के बाद उसे इंजेक्शन और बॉटल लगाई गई, लेकिन इससे उसकी हालत खराब होने लगी तो परिजनों ने डॉक्टर की सलाह पर उसका एक्स-रे तथा अन्य जांचें करवाई, अगले दिन यहां से उसे जबलपुर के लिए रेफर कर दिया गया, तब से लेकर अब तक उसका इलाज जबलपुर में चल रहा था इसी बीच पीड़ित की शिकायत पर स्थानीय पुलिस ने कथित आरोपियों के खिलाफ अपराध कायम कर लिया था, यह बात भी सामने आई कि खुद को बचाने के फेर में दुष्यंत सिंह तथा अन्य युवकों ने युवक के खिलाफ मारपीट करने की शिकायत थाने में दी थी, जिसने खुद इस बात की पुष्टि कर दी कि युवकों के द्वारा ही उसके साथ मारपीट की गई थी, बहरहाल पुलिस अधिकारियों की समझाइश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *