सड़क पर वाहन चलाते समय अहंकार नहीं होना चाहिए : कमिश्नर

यातायात पुलिस को प्राप्त इन्टरसेप्टर वाहन को दिखाई गई हरी झण्डी

शहडोल। विराट सभागार कलेक्ट्रेट परिसर में यातायात पुलिस शहडोल की ओर से 12 अक्टूबर को आयोजित कार्यक्रम के अंतर्गत इंटरसेप्टर वाहन का लोकार्पण आई रेड प्रोजेक्ट एवं ब्लैक स्पॉट संबंधी चर्चा की गई। कार्यक्रम का आरंभ मुख्य अतिथियों के स्वागत से शुरू हुआ। सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य से जो पूर्व से ब्लैक स्पॉट चिन्हित थे, उनमें वर्तमान पुलिस अधीक्षक के कार्यकाल में जो परिशोधन का कार्य कराया गया है, उसका प्रभाव दिखने लगा है, पुलिस अधीक्षक शहडोल ने संबोधन में बताया कि इन ब्लैक स्पॉट पर पूर्व वर्षों की तुलना में सड़क दुर्घटना में कमी आई है जिले की पुलिस ने तथा सड़क निर्माण एजेंसी के अधिकारियों के सहयोग से शहडोल-अनूपपुर मार्ग तथा शहडोल-रीवा मार्ग के ब्लैक स्पॉट के परिशोधन का कार्य चेतावनी बोर्ड तथा सड़क पर सफेद पट्टी डालकर कराया गया है जिसके परिणाम स्वरुप सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है। पुलिस अधीक्षक ने यह भी बताया कि उनका प्रयास होगा कि शेष बचे ब्लैक स्पॉट शीघ्र अति शीघ्र परिशोधित हो जाएं, इसके लिए सड़क निर्माण एजेंसी के अधिकारियों ने भी शीघ्र पूर्ण करने की सहमति जताई।
सड़क के नियमों का ईमानदारी से करें पालन
कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य ने अपने उद्बोधन में कहा कि सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम में शहडोल पुलिस सराहनीय कार्य कर रही है, इस कार्य के अंतर्गत वह शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग जैसे अन्य विभागों को भी साथ लेकर यातायात शिक्षा जागरूकता के कार्यक्रम संचालित करवाएंगे और जहां भी उनकी सहयोग की आवश्यकता होगी, वह उसे पूर्ण सहयोग करेंगे। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डी.सी. सागर ने स्लाइड प्रेजेंटेशन के माध्यम से अपना उद्बोधन आरंभ किया आपने आम जनता से अपील की कि ”असमय काल के गाल में ना समाएÓÓ इसके लिए यातायात एवं सड़क के नियमों का ईमानदारी से पालन करें इन नियमों का पालन न केवल आपकी जान बचाएगी, बल्कि आपका परिवार भी सुरक्षित रहेगा अपने जोशीले अंदाज में उद्बोधन देते हुए।
सड़क दुर्घटनाओं पर लगेगी लगाम 
उन्होंने कहा कि न केवल शहडोल जिला बल्कि शहडोल जोन के सभी जिलों को यातायात के नियमों का पालन करने का संदेश देते हुए प्रदेश में शहडोल जोन को अब्बल स्थान इस क्षेत्र में मिले संभागायुक्त ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमारे समाज में व्यक्ति गाड़ी नहीं चलाता है बल्कि उसका अहंकार चलाता है, सड़क पर वाहन चलाते समय अहंकार नहीं होना चाहिए। अहंकार पूर्वक वाहन चलाने वाले ही दुर्घटना के शिकार होते है। यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए एवं यातायात पुलिस का सम्मान करना चाहिए इसी में जीवन की सुरक्षा है सभी अधिकारियों ने अपने उद्बोधन में यह आशा जताई कि इंटरसेप्टर व्हीकल निश्चित रूप से ओवर स्पीडिंग के कारण होने वाली सड़क दुर्घटनाओं पर लगाम लगाएगा जिससे आमजन एवं उनका परिवार हंसते खेलते हुए जीवन गुजारेंगे। कार्यक्रम के बाद यातायात पुलिस शहडोल को मिली इन्टरसेपटर वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया।
इनकी रही उपस्थिति
कार्यक्रम में संभागायुक्त राजीव शर्मा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन शहडोल दिनेश चंद्र सागर, कलेक्टर शहडोल श्रीमती वंदना वैद्य, पुलिस अधीक्षक शहडोल अवधेश कुमार गोस्वामी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश वैश्य उपस्थित हुए। कार्यक्रम का संचालन डीएसपी यातायात अखिलेश तिवारी, सिविल सर्जन जी.एस.परिहार, समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारी, समस्त प्रशासनिक अधिकारी, रक्षित निरीक्षक शहडोल, समस्त थाना प्रभारी, पुलिस अधीक्षक कार्यालयीन स्टाफ, सड़क निर्माण एजेंसी एमपीआरडीसी नेशनल हाईवे, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, पीडब्ल्यूडी एवं नगर पालिका एवं अन्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *