इन्हें नही कोरोना का भय : गाँव मे खुलेआम घूम रहे 8 संक्रमितों को पकड़ने में प्रशाषन को आया पसीना

गांव में घूम रहे 8 संक्रमितों को पकडने में प्रशासन का छूटा पसीना
एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओ सहित स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची खैरहनी
6 को पकडकर भेजा क्वारंटीन सेंटर, 2 कोरोना पॉजटिव चकमा देकर हुए फरार
सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम को जांच के दौरान ग्रामीणों ने गांव से खदेडा

बुढार जनपद के खैरहनी ग्राम में सोमवार की शाम कोरोना परीक्षण के लिये पहुंची टीम को ग्रामीणों ने गांव से खदेड दिया, जांच में आये 8 पॉजटिव गांव में घूमते रहे, शिकायत पर मंगलवार को पुलिस-प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची तो विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। 6 को पकडकर लाया गया, लेकिन 2 मौके से फरार हो गये, जिसमें से एक शिक्षक व एक मजदूर है।

शहडोल। कोरोना संक्रमण की भयावकता से दूर, जागरूकता के अभाव में आज भी ग्रामीण इस संक्रमण को लेकर गंभीर नही है, न तो उन्हे इससे होने वाले गंभीर खतरे का आभास है और न ही खुद, परिवार व समाज की फिक्र ही है। जिले के बुढार जनपद अंतर्गत ग्राम खैरहनी में एक ऐसा ही मामला सामने आया, जिसमें पहले तो गांव में संक्रमण की जांच करने पहुंची स्वास्थ्य अमले की टीम के साथ दुव्र्यहार किया गया। महज 15 से 20 लोगों ने ही जांच कराई, जिसमें से 8 संक्रमित पाये गये, कोरोना गाईडलाईन के अनुसार इन्हे होम आईसोलेट होने की सलाह दी गई, लेकिन व नही माने। सोमवार की रात्रि प्रशासनिक टीम इन्हे दूर तक ढूंढती रही, पर कोई नही मिला। मंगलवार को टीम जब दोबारा गई तो विवाद की स्थिति निर्मित हो गई, कई घंटो की मशक्कत के बाद 6 को पकडा गया, दो फिर भी फरार हो गये।

जांच को तैयार नही ग्रामीण

सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम जब खैरहनी पहुंची तो तमाम प्रयासों के बाद भी कोई ग्रामीण कोरोना संक्रमण की जांच के लिए तैयार नही हुआ। काफी मेहनत के बाद 15 से 20 लोगों ने जांच कराई तो उसमें 8 लोग पॉजटिव आये, तो बाकी ने जांच से न सिर्फ किनारा किया, बल्कि दर्जनों ने मिलकर स्वास्थ्य विभाग के टीम को ही गांव से बाहर खदेड दिया। जागरूकता के अभाव में ग्रामीणों को आज भी कोरोना की भयावकता का अंदाजा भी नही है। यही कारण है कि जहां पूरा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है वहां खैरहनी के ग्रामीण जांच तक को तैयार नही।

प्रशासन के छूटे पसीने

मंगलवार को 8 संक्रमितों के न मिलने और ग्रामीण क्षेत्र में आ रही परेशानी के निदान के लिए एसडीएम धमेन्द्र मिश्रा, तहसीलदार भरत सोनी, चंद्रकांत बट्टी के साथ एसडीपी बुढार भरत दुबे, सीईओ जनपद बुढार एमपी सिंह पटेल सहित उक्त विभागों का अमला व स्वास्थ्य विभाग की टीम खैरहनी पहुंची। कई घंटो तक संक्रमितों को ढूंढने के बाद जब वे मिले तो उन्होने आने से इनकार कर दिया। काफी समझाईश के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम 6 संक्रमितों को एम्बूलेंस में लेकर धनपुरी के तीन नंबर क्षेत्र में स्थित क्वारंटीन सेंटर में पहुंची।

2 फरारों में एक शिक्षक शामिल

कोरोना जैसी महामारी को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता की कितनी कमी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 8 संक्रमितों में से दो फरार हुए ग्रामीणों में एक शासकीय शिक्षक भी है। मंगलवार की शाम तक पूरी प्रशासनिक टीम अपनी ताकत झोकने के बाद भी शेष 2 को नही पकड पाई तो स्थानीय सचिव प्रदीप मिश्रा की माध्यम से प्रशासनिक अधिकारियों ने स्थानीय थाने में आपराधिक मामला दर्ज कराने के आदेश दिये, दूसरी तरफ आदिवासी विकास विभाग से शिक्षक को निलंबन का नोटिस भेजा गया, तब कहीं जाकर शिक्षक ने क्वारंटीन सेंटर पहुंच कर फोटो व्हाट्सअप करने की बातें स्थानीय सचिव को कही, पंचायत सचिव ने बताया कि दूसरे संक्रमित को भी जल्द ढूंढ निकाला जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *