पीसीबी की पहल से जनअभियान का रूप बन चुका वृक्षारोपण

सदाबहार वृक्ष नीम, गुलमोहर, अमरूद तथा सीताफल के रोपे जा रहे पौधे

शहडोल। संभाग के अंतर्गत क्षेत्रीय कार्यालय, म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा कचरा डम्प क्षेत्रों में संबंधित नगरीय निकायो को प्रेरित कर नियमित रूप से वृक्षारोपण कराया जा रहा है, यह अभियान अनवत्तर रूप से जारी है। पर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग के द्वारा बोर्ड के समस्त क्षेत्रीय अधिकारियों को बोर्ड मुख्यालय, भोपाल के माध्यम से दिशा-निर्देश जारी किये गये है। बोर्ड के सदस्य सचिव के द्वारा भी वी.सी. के दौरान उक्त बावत् कार्य प्रगति की नियमित रूप से समीक्षा की जा रही है। क्षेत्रीय कार्यालय, शहडोल की इस पटल के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे है, संभाग के अंतर्गत वृक्षारोपण एक जन अभियान का रूप ले चुका है एवं कई एन.जी.ओ., मीडिया गु्रप एवं धार्मिक तथा शासकीय संस्थाएं वृक्षारोपण के पुनीत कार्य में जोर-शोर से बड़े पैमाने में सक्रिय है एवं निरन्तर वृक्षारोपण किया जा रहा है।
सबसे उत्तम है संभाग का पर्यावरण
प्रदेश का पर्यावरण के दृष्टिकोण से एवं वायु गुणवत्ता सूचकांक के पैमाने पर सबसे उत्तम संभाग के आवासीय एवं वाणिज्यिक स्थल भी हरीतिमा से आच्छादित हो रहे है। शहडोल एवं बुढ़ार के शवदाह गृह में हरित पार्क का अहसास सा होता है। इस अभियान में पर्यावरण विद जनप्रतिनिधि, मीडिया एवं शहर के प्रबुद्ध नागरिक गण भी शामिल रहे है। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला कटारे, विधायक बांधवगढ़ शिवनारायण सिंह भी शामिल रहे है। 22 जुलाई को अनूपपुर नगर पालिका स्थित डम्पिग स्थल में नगर पालिका परिषद अनूपपुर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी विकास मिश्रा, उपयंत्री संदीप उरेती, स्वच्छता निरीक्षण डी.एन. मिश्रा एवं बृजेश मिश्रा तथा नीरज पुरोहित इत्यादि की उपस्थिति में वृक्षारोपण कराया गया। इनकी उपस्थिति में स्थानीय प्रजातियों के सदाबहार वृक्ष नीम, गुलमोहर एवं अमरूद तथा सीताफल इत्यादि के लगभग 50 पौधे रोपित किये गये।
203 पौधों को किया गया रोपित
नगर पालिका परिषद शहडोल के जमुई स्थित टेन्चिंग ग्राउण्ड में 23 अगस्त को नगर पालिका की अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला कटारे एवं मोतीलाल सिंह, स्वच्छता निरीक्षक, नगर पालिका शहडोल की उपस्थिति में स्थानीय प्रजातियों के सदाबहार वृक्ष नीम गुलमोहर, अमरूद, सीताफल इत्यादि के लगभग 203 पौधे रोपित किये गये। पौधारोपण किया जाकर पौधों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से ट्री-गार्ड भी लगाए गए है।
पौधों की सुरक्षा के लिये लगाए ट्री-गार्ड
नगर पालिका परिषद पाली जिला-उमरिया के पाली स्थित टेन्चिंग ग्राउण्ड में 06 सितम्बर को नगर पालिका पाली की अध्यक्ष श्रीमती आभा त्रिपाठी, संतोष पाण्डेय उपयंत्री, उपाध्यक्षरामधनी प्रधान, पार्षद बहादुर सिंह एवं श्रीमती पार्वती बैगा, राजू पटेल, एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से जी.के. बैगा, कनि. वैज्ञानिक, विश्वनाथ वर्मा, नि.श्रे.लि. तथा मीडिया से प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार की उपस्थिति में स्थानीय प्रजातियों के सदाबहार वृक्ष गुलमोहर, अमरूद, सागौन, सीताफल, नीम, आम इत्यादि के लगभग 100 पौधे रोपित किये गये। पौधारोपण किया जाकर पौधों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से ट्री-गार्ड भी लगाऐ गऐ है। इसके अतिरिक्त भी स्थानीय लघु श्रेणी के स्टोन क्रेशर्स एवं लघु खदानों के प्रबंधकों को भी प्रेरित कर सघन वृक्षारोपण नियमित रूप से कराया जा रहा है।
डम्पिं स्थल में रोपे पौधे
इसी प्रकार 07 सितम्बर नौरोजाबाद नगर पालिका स्थित डम्पिग स्थल में नगर पालिका परिषद नौरोजाबाद के शिवनारायण सिंह, विधायक बांधवगढ़ एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से जी.के. बैगा, कनिष्ठ वैज्ञानिक, मानस साहू, कॉन्टैक्ट इंजीनियर, राजेश सिंह स्थायी कर्मी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुश्री रीना राठौर, उपयंत्री संतोष पाण्डेय एवं नौरोजाबाद के समस्त वार्ड के पार्षद तथा वरिष्ठ गणमान्य नागरिक, मीडिया, इत्यादि की उपस्थिति में वृक्षारोपण कराया गया। इनकी उपस्थिति में स्थानीय प्रजातियों के सदाबहार वृक्ष आम, जामुन, नीम, आंवला, गुलमोहर एवं अमरूद तथा सीताफल इत्यादि के लगभग 100 पौधे रोपित किये गये।
जिले की परिवेषीय वायु गुणवत्ता अच्छी पाई गई
क्षेत्रीय कार्यालय मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बताया कि उमरिया जिले की परिवेशीय वायु गुणवत्ता मापन हेतु क्षेत्रीय कार्यालय मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड शहडोल के द्वारा स्थापित कराए गए एयर क्वालिटी मानीटरिंग स्टेशन उपकरणों की वायु गुणवत्ता परिणामों के आधार पर उमरिया जिले की परिवेशीय वायु में प्रदूषको की मात्रा निर्धारित मानकों से अत्यधिक कम पाई जा रही है एवं पर्यावरण की स्थिति निरंतर उत्तम पाई जा रही है। उन्होंने बताया कि पीएम 10 44.48 यूजी/एम 3 है। जिसकी निर्धारित मानक मात्रा 100 यूजी/एम 3 है एवं एक्यूआई कैटेगरी अच्छी पाई गई है। इसी प्रकार पीएम 2.5 14.05 यूजी/ एम 3 है जिसकी निर्धारित मानक मात्रा 60 यूजी/ एम 3 है एवं एक्यूआई कैटेगरी अच्छी पाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed