पेट्रोलपंप खुलवाने के नाम पर 2.14 करोड़ रूपए की ठगी कराने वाले में दो गिरफ्तार, अन्य की तलाश पूरे गिरोह का पकड़ने एक विशेष जाँच एजेंसी कर रही काम

पेट्रोलपंप खुलवाने के नाम पर 2.14 करोड़ रूपए की ठगी कराने वाले में दो गिरफ्तार, अन्य की तलाश
पूरे गिरोह का पकड़ने एक विशेष जाँच एजेंसी कर रही काम

 

कटनी॥ पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर शहर के शक्कर कारोबारी मनोज कुमार कस्तवार निवासी सराफा बाजार रघुनाथगंज से 2 करोड़ 14 लाख की ठगी करने के मामले में कोतवाली पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। ठगी करने वाले कुछ आरोपियों कों पुलिस नें दिल्ली से गिरफ्तार किया है। फोन पर व्यापारी को झांसा देकर पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर 2.14 करोड़ की ठगी की शिकायत कोतवाली थाने में दर्ज की गई थी । कोतवाली पुलिस ने ठगों प्रति आईपीसी की धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया, जिसमें गौरव शर्मा, दीपक मेहरा , अर्चना सिंह सहित अन्य को नाम जद अरोपी बनाया है। मुखबिर की सूचना पर ठगी के आरोपी रेहाना व पति हेमताज को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से एक कार, मोबाइल आदि जब्त किए गए हैं। आरोपियाें को एक्सिस बैंक ले जाकर भी पूछताछ की गई। इस दौरान आरोपियों के एक्सिस व बंधन बैंक में खाताें पर होल्ड लगवाया गया है। रेहाना के खाते से 9 लाख 31 हजार रुपए व हेमताज के 2 लाख 20 हजार रुपए मिले हैं। तीन अन्य आरोपी गौरव शर्मा, दीपक मेहरा व अर्चना सिंह की तलाश के लिए टीम को अलग-अलग रवाना किया गया है।जानकारी अनुसार मनोज कुमार कस्तवार पिता गोपालदास कस्तवार उम्र 56 वर्ष निवासी सराफा बाजार रघुनाथगंज थाना कोतवाली द्वारा लिखित आवेदन प्रस्तुत किया गया, जिसमें प्रार्थी को पैट्रोल पंप लगाने के नाम पर तीन लोग जिसमें 01 महिला भी शामिल है, के द्वारा स्वयं को आदित्य बिड़ला ग्रुप का एजेण्ट होना बताकर वर्ष 2020 से अभी तक अलग-अलग बैंक खातों में कुल 02 करोड़ 14 लाख रूपये लेकर धोखाधड़ी की गई है। रिपोर्ट पर थाना कोतवाली कटनी में अप.क्र. 532/ 2023 धारा 420 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। प्रकरण की गंभीरता आरोपियों की तलाश पतासाजी व गिरफ्तारी हेतु टीम गठन कर तलाश की गई। तलाश पतासाजी दौरान आरोपी हेमताज आलम पिता स्व. जमील मिया उम्र 27 वर्ष निवासी मजरा धोस वार्ड नं. 12 थाना रामनगर जिला पश्चिमी चम्पारण (बिहार) एवं रिहाना पिता मिया मुशर्रफ अली उम्र 26 वर्ष नि. 495 गढ़ोली दिल्ली 96 थाना गाजीपुर जिला दिल्ली को हिरासत में लिया जाकर विस्तृत पूछतांछ हेतु कटनी लाया गया है, जो पूंछतांछ पर बताएं कि इनके विभिन्न बैंको एक्सिस बैंक, बंधन बैंक, महिन्द्रा कोटक बैंक में बैंक खाते खुलवाए गए हैं तथा उन खातों में इनके हिस्से में आई रकम जमा है, जिस पर तत्काल कार्यवाही कर बैंक खातों को होल्ड कराया गया है। आरोपी हेमताज आलम और रिहाना दोनों पति-पत्नी है। हेमताज के खाते में कितनी रकम जमा है, इसकी जानकारी प्राप्त की जा रही है तथा रिहाना ने अपने खाते में 09 लाख 31 हजार रू जमा होना तथा 10 लाख रू आई-20 कार की किस्त चुकाने में खर्च करना बताई है। आरोपियों के पास से 02 लाख 20 हजार रूपये नगद एवं 01 आई-20 कार व 01 लेपटाप तथा एन्ड्रायड मोबाईल जप्त किये गये है। इस अपराध में इनके साथ मुख्य भूमिका में अनुराग उपाध्याय जो खुद को गौरव शर्मा बताकर तथा अनुराग उपाध्याय की पत्नि शालू उपाध्याय के द्वारा खुद को अंजली शर्मा एवं मधु तथा अन्य दूसरे नाम बताकर मनोज कस्तवार निवासी कटनी से पैट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर पैसे लेना बताए है तथा गिरफ्तार आरोपिया रिहाना ने मनोज कस्तवार से बातचीत करते समय अपना नाम अर्चना सिंह बताती थी। गिरफ्तार आरोपियों से धोखाधड़ी की रकम उनके बैंक खातों से बरामद किए जाने एवं उक्त अपराध के फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु माननीय न्यायालय से 10 दिन का पुलिस रिमाण्ड लेकर दिल्ली एवं अन्य संभावित स्थानों पुलिस टीम के साथ भेजकर बैंक खातों से रकम की बरामदगी एवं फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के सार्थक प्रयास किए जा रहे है।

15 दिसंबर 2020 कों हुआ था फोन से संपर्क
पहली बार 15 दिसंबर  2020 को फोन पर संपर्क किया था हाईवे किनारे जमीन होने पर  उस पर पेट्रोल पंप खुलवाने का लालच दिया था उसने व्यापारी मनोज कस्तबर को बातों ही बातों में भरोसे में ले लिया उसके बाद  ₹1000000 लाख रुपये की रकम निजी खाते में डलवा ली इस तरह ढाई साल तक पैसे ठगने का क्रम चलता रहा । व्यापारी ने अलग-अलग किस्तों में 2.14 करोड़ रूपए की राशि ठग गिरोह के खाते में ट्रांसफर करते रहें।

ठगों के खातों में भेजी गई राशि का विवरण
मनोज कुमार कस्तवार ने 2.14 करोड़ रुपे पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर ठग गिरोह के एजेंटो को दी गई यह राशी 15 दिसंबर 2020 से अभी तक दी गई पहली राशि
1057157 रूपए ठगों के खाते में स्थानांतरण की गई इसी तरह दूसरी किस्त 28500000 डाले गए इसी प्रकार 2281564 रूपए , 1500000, 19700000, 516864, 258688, 939910, 659000, 600000, 1655600रुपे ,1321459, 349500, 2000000रुपे, 327000, 1400000, रुपे 1310600,, 451540, 101800, 1057530 रुपये 318210, 50000रुपे, 84500 रुपए अलग अलग खातो में डाले गए।

पुलिस कार्यवाही अभिजीत कुमार रंजन पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में एवं मनोज केड़िया अति. पुलिस अधीक्षक तथा विजय प्रताप सिंह नगर पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी कोतवाली अजय बहादुर सिंह, सायबर सेल प्रभारी संजय दुबे, उदय भान मिश्रा, कुलदीप सिंह, मंजू पटेल, प्रियंका राजपूत, सउनि विजयशंकर गिरी सायबर सेल से प्रशांत विश्वकर्मा, सतेन्द्र कोतवाली के पलाश दुबे, अमित सिंह, हिमांशु दुबे की अहम भूमिका रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed