करोड़ों के भ्रष्टाचार पर नगरीय प्रशासन और जिला प्रशासन ने साधी चुप्पी 10 पार्षद सहित उपाध्यक्ष की शिकायत को डाला ठंडे बस्ते 

Girish Rathor

बिजुरी /नगर पालिका परिषद बिजुरी में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए 15 में से 10 पार्षद सहित उपाध्यक्ष के द्वारा जेम के माध्यम से की गई खरीदी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खरीदी से संबंधित बिल वाउचर तथा स्टोर रूम को सील करते हुए इसकी जांच कराए जाने की मांग किए जाने के बावजूद नगरीय प्रशासन विभाग के द्वारा अब तक इस मामले पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है । इसके साथ ही संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर कार्यालय में भी मामले की शिकायत दर्ज कराई गई थी

 

फ़र्म को लाभ पहुंचाने दे डाले करोड़ों के खरीदी के आदेश बाजार मूल्य से कई गुना महंगे दाम

 

शिकायत में उल्लेखित कर बताया गया है कि नपा के द्वारा समस्त नियमों को ताक पर रखते हुए 4 हाई मास्ट लाइट की खरीदी के लिए मंगलम ट्रेडर्स इंदौर को टेंडर तथा वर्क आर्डर जारी किया गया है। जोकि बाजार मूल्य से काफी अधिक है इसके साथ ही बिना ब्रांड की खरीदी इतने महंगे दामों पर किए जाने के आरोप लगाए गए है

 

परिषद की बैठक के बिना ही खरीदी कैसे, सीएमओ और अध्यक्ष ने गुपचुप कर डाली खरी

 

मामले की शिकायत पार्षद मुकेश जैन के द्वारा कमिश्नर कार्यालय में करते हुए इस मामले पर बताया गया कि 30 नवंबर के बाद से परिषद की कोई भी बैठक नहीं हुई है ऐसे में करोड़ों रुपए की खरीदी के लिए पहले परिषद का संकल्प पारित किया जाता है जिसके पश्चात दर अनुमोदन की कार्यवाही की जाती है। जो कि मुख्य नगरपालिका अधिकारी के द्वारा किसी भी प्रक्रिया का पालन यह बिना ही करोड़ों रुपए की खरीदी का आदेश जारी कर दिया गया

 

स्टोर की जांच से ही होगा करोड़ों के भ्रष्टाचार का खुला

 

सभी पार्षद एवं उपाध्यक्ष के द्वारा जेम पोर्टल के माध्यम से की गई खरीदी में करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार किए जाने के आरोप लगाते हुए सबसे पहले स्टोर रूम को सील करते हुए खरीदी किए गए सामानों का मिलान स्टोर से किए जाने की मांग की गई थी । इसके बाद भी विभाग के द्वारा अब तक इस पर कार्यवाही नहीं की गई है।सा।दी ।पर ।में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *