वसंतोत्सव, सरस्वती पूजन जयंती का आयोजन

शहडोल। बसंत पंचमी के अवसर पर पंडित एस. एन. शुक्ला विश्वविद्यालय शहडोल के हिंदी-विभाग में सरस्वती पूजन वसंतोत्सव एवं निराला जयंती का उत्साह पूर्वक आयोजन किया गया। निराला जयंती के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मुकेश कुमार तिवारी व अध्यक्ष कुलसचिव डॉ. विनय सिंह एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. अमित निगम रहे तथा निराला जयंती के संगोष्ठी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ. करुणेश झा एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. नीलमणि दुबे ने कि व विशिष्ट अतिथि प्राध्यापक रही।
आधुनिक विश्व निर्माता
कार्यक्रम की शुरूआत माता सरस्वती व महान कवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का पूजन सम्पन्न हुआ। इसके पश्चात निराला जयंती के संगोष्ठी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रो. मुकेश तिवारी ने छात्रों को उद्बोधन देते हुए कहा कि वर्तमान समय चुनौती पूर्ण है, अत: युवाओं के सशक्त कंधे इस जिम्मेदारी का निर्वहन करें, क्योंकि वही आधुनिक विश्व के निर्माता हैं।
अनंत काल को करता है प्रेरित
कुलसचिव डॉ. विनय सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय निरंतर इस हेतु प्रयत्नशील है कि युवाओं को अपनी क्षमता के पूरे विकास का अवसर प्राप्त हो और वास्तव में यही माता सरस्वती के पूजन की वास्तविक सार्थकता है। प्रो. करुणेश झा ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि यथार्थ और कल्पना के समन्वय का महाप्राण निराला ने विश्व के सामने प्राणी मात्र के कल्याण की कामना और सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय की भावना को काव्यालंकार किया है, जो अनंत काल तक हमे प्रेरित करता रहेगा।
हुए साहित्यिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम
हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ नीलमणि दुबे ने मानवमुक्ति व कवितामुक्ति के पुरोधा निराला को भावांजलि अर्पित करते हुए उनके मानवतावादी चिंतन को रेखांकित किया। संगोष्ठी कार्यक्रम का आभार ज्ञापन प्राध्यापक आरती झा ने किया। कार्यक्रम को शोध छात्र लोकेश साहू, अरुणेन्द्र पाण्डेय ने संबोधित व संचालित किया एवं मोनू जायसवाल, नीलम पटेल, सुषमा पटेल, दीपिका साहू, कामिनी गुप्ता आदि छात्र-छात्राओं व अतिथि विद्वानों ने साहित्यिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। साथ ही विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओं ने भी पर्याप्त संख्या में प्रशंसनीय सहभागिता की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *