जिला परियोजना प्रबंधक आजीविका मिशन का रिश्वत लेते वीडियो वायरल

शशिकांत कुशवाहा
सिंगरौली: मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला पंचायत सिंगरौली में पदस्थ जिला परियोजना प्रबंधक श्रीमती अंजुला झा द्वारा स्थानांतरित मिशन कर्मी को रिलीव ना करने हेतु ₹30000 रुपए नगद कलेक्ट्रेट के सामने अपने ड्राइवर के हाथों रिश्वत ली गई और ₹50000 रुपए अपने पति के खाते में जमा करने हेतु मिशन कर्मी के ऊपर दबाव बनाया गया किंतु ₹50000 रुपए अपने पति के खाते में ना प्राप्त होने के कारण मिशन कर्मी को सिंगरौली जिले से मुरैना जिले को कोरोना काल के विकट परिस्थिति में रिलीव करा दिया गया जिस संबंध में इन दिनों पूरे प्रदेश में श्रीमती अंजुला झा का वीडियो वायरल हो रहा है।

पैसे को लेकर शख्त नजर आई परियोजना अधिकारी

वायरल वीडियो में अंजुला झा द्वारा साफ कहा जा रहा है कि मेरे द्वारा तुम्हें रोक लिया गया है अब तुम्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है जितने राशि की मांग की जा रही है उतनी राशि यदि पहुंचा दोगे तो सिंगरौली से तुम्हें कोई रिलीव नहीं कर पाएगा। अंजुला झा पूर्व में आजीविका मिशन जिला डिंडोरी में पदस्थ थी वहां पर उनका कार्यकाल बेहद ही खराब था जिस कारण इनकी सेवा समाप्ति वरिष्ठ कार्यालय द्वारा कर दी गई थी साथ ही इनका चयन जिला प्रबंधक कौशल उन्नयन, और जिला परियोजना प्रबंधक के पद पर चयन हुआ था किंतु पिछला सर्विस काल बेहद खराब होने के कारण इनका चयन वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा निरस्त कर दिया गया था। फिर भी अंजुला झा बैक डोर एंट्री करते हुए जिला परियोजना प्रबंधक आजीविका मिशन जिला सिंगरौली के पद पर पिछले वर्ष सितंबर 2019 में पदस्थापना प्राप्त कर ली गई।

प्रशिक्षण के नाम पर पर घोटाला

सूत्र बताते हैं कि जब से श्रीमती झा आजीविका मिशन जिला सिंगरौली में पदस्थ हुई है तब से लेकर अभी तक लगभग करोड़ का घोटाला करने का आरोप है प्रशिक्षण के नाम पर इनके द्वारा करोड़ों का घोटाले करने का आरोप है इसी प्रकार करोना काल में घटिया किस्म का मास्क और सैनिटाइजर ड्राइवर के घर पर अपने पति के सहयोग से तैयार करा कर करोड़ों रुपए समूह का आड़ लेकर घोटाला किया गया है यदि इन बिंदुओं की गहनता से जांच होती है तो इस पूरे मामले का पर्दाफाश हो सकता है।

उपरोक्त सम्बंध मे कलेक्टर ने कहा-

इस मामले पर जिला कलेक्टर राजीव रंजन मीणा से बात कि गई तो कलेक्टर साहब ने कहा कि हमारे पास यह शिकायत आई है. मामले को संज्ञान मे लेने के बाद हम आगे जांच करवाते हुए कार्यवाही की जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *