विंध्य प्रदेश विकास से अछूता : त्रिपाठी

विंध्य प्रदेश के पुर्नगठन को लेकर हुई पत्रकारवार्ता

शहडोल। मैहर के पूर्व विधायक नारायण त्रिपाठी ने गुरूवार को शहडोल पहुंचकर एक होटल में पत्रकारवार्ता आयोजित किया, जिसमें उन्होंने विंध्य प्रदेश के पुर्नगठन को आवश्यक निरूपित किया है। उन्होंने कहा कि हमने विंध्य प्रदेश के पुर्नगठन को लेकर अभियान शुरू कर दिया है और अनेक संगठन इस काम के लिये जुड़ गये हैं तथा अगले छ: माह में अनेक विधायक एवं सांसद हमारे साथ होंगे। श्री त्रिपाठी ने कहा कि विंध्य प्रदेश विकास के अछूता है, चाहे वह स्वास्थ्य के मामले में हो, रेल सुविधाओ का मामला हो, खेल का क्षेत्र हो या फिर अन्य विकास की बात हो हमेशा विंध्य प्रदेश की उपेक्षा की गई है, इसलिये पूरे क्षेत्र के विकास के लिये विंध्य प्रदेश बनना चाहिए। पत्रकारों के प्रश्नों के उत्तर देते हुए श्री त्रिपाठी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने छोटे राज्यों के गठन को बल दिया था और इसके बाद छत्तीसगढ़, झारखंड एवं उत्तराखंड जैसे राज्य बनाये गये थे। उन्होंने कहा कि अभी भी मध्यप्रदेश में 320 विधानसभा सीटें हैं और मात्र 48 विधानसभा सीटों को मिलाकर नया राज्य बनाया जा सकता है। जिस तरह से छोटे-छोटे राज्यों के गठन के बाद उनका विकास हुआ है, इसी प्रकार विंध्य प्रदेश बन जाने से इस क्षेत्र में विकास की असीम संभावना हो सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि छोटे राज्यों का गठन भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है अन्य कोई पार्टी यह नहीं कर सकती। पत्रकारवार्ता के दौरान कांग्रेस के नेता मनीष श्रीवास्तव सहित अन्य नेतागण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *