28 को भर्ती हुआ था मृतक, 30 जनवरी की सुबह इलाज दौरान हुई मौत वेवजह अफवाह कों ना मिले तूल , प्रशासन अलर्ट मूड पर

28 को भर्ती हुआ था मृतक, 30 जनवरी की सुबह इलाज दौरान हुई मौत वेवजह अफवाह कों ना मिले तूल , प्रशासन अलर्ट मूड पर

 

कटनी !  जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत सराय में गुरुवार को दी गई हिदायत और शुक्रवार को जिला प्रशासन द्वारा की गई अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई और उसी क्षेत्र में रहने वाले एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी ! कोतवाली थाना अन्तर्गत मुख्य रेल्वे स्टेशन के समीप स्थित सराय मोहल्ले में शासकीय भूमि पर किये गये अवैध अतिक्रमण को हटाने की कार्यवाही की गई है। जहां पर 28 मकान तोड़े गये हैं। तोड़ी गई मकानों में सराय मोहल्ला स्थित भोला तिवारी का मकान भी अतिक्रमण की चपेट में आ गया ! वहीं गत दिवस भोला तिवारी की मृत्यु भी हो गई इस संबंध में प्रशासन का कहना है कि सराय मोहल्ला में भोला तिवारी जी की मृत्यु किन कारणों से ही है इसका वास्तविक पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा! एसडीएम बलवीर रमन ने बताया कि भोला तिवारी 28 तारीख को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था जहां पर इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई है जिसके लिए रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा तत्काल ₹10000 की आर्थिक सहायता प्रदान की गई है़ ! वही अतिक्रमण के दौरान विस्थापितों के लिए भी प्रशासन के द्वारा इंतजाम किया गया है जिसके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए पात्र लोगों का जाँच परीक्षण कराकर उनके लिए कार्यवाही की जाएगी! तोड़ने से पहले यह सभी लोगों के दस्तावेजों की आवश्यक जांच की गई थी जिसमें सभी के पट्टे सही नहीं पाए गए!जिसको  लेकर कुछ सामाजिक संवाद माध्यमों में अफवाहें फैल रही थी, जिसे लेकर जिला प्रशासन अलर्ट हो गया। जिला प्रशासन की ओर से बयान जारी कर बताया गया है कि जिस व्यक्ति की मौत हुई है उसे स्वास्थ्य खराब होने पर 28 जनवरी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिला अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था, 30 जनवरी की सुबह उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम बलवरी रमन ने बताया कि कोतवाली थाना अंतर्गत सराय मोहल्ला निवासी 60 वर्षीय भोला पिता तनय रामस्वरुप तिवारी 28 जनवरी को अचानक बेहोश हो गया था, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, 30 जनवरी को इलाज के उनकी दौरान मौत हो गई है। मृत्यू का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद स्पष्ट हो सकेगा। एसडीएम ने बताया कि दस हजार रुपए की आर्थिक सहायता की गई है। वहीं कांग्रेस शहर अध्यक्षस मिथिलेश जैन भी अपने समर्थकों के साथ सराय पहुंचे और जिला प्रशासन पर बगैर कोई वैकल्पिक व्यवस्था और बगैर किसी पूर्व सूचना के कार्रवाई करने का आरोप लगाया गया। मिथिलेश जैन मृतक के शव के पास भी बैठे और उनके साथ कांग्रेस नेता मौसूफ अहमद बिट्टू सहित अन्य कांग्रेसी भी मौजूद रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *