जवारा विसर्जन के दौरान दो बच्चियों की बनी जल समाधि, गांव में छाया मातम

शहडोल। मंगलवार को जवारा विसर्जन के लिए गये जिले के सीधी थाना क्षेत्र अंतर्गत दादर निवासी दो नाबालिग बच्चियों की डूबने से मौत हो गई, जिसके बाद पूरे गांव में मातम छा गया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह 10.30 बजे ग्राम दादर के ग्रामीणों द्वारा दुर्गा प्रतिमा एवं जवारा विसर्जन के लिए गंधिया जलाशय लगाया गया था, जहां से प्रतिमा को भठिया विसर्जन स्थल भेज दिया गया, वहीं जवारा विसर्जन के लिए मेढ़ गंधिया जलाशय में भेजा गया। जहां विसर्जन करने के बाद गांव सभी गांव वालों के साथ अनामिका पिता ज्ञान सिंह उम्र 15 वर्ष, नंदनी सिंह पिता कृष्ण पाल सिंह उम्र 17 वर्ष नहा रही थी, नहाते हुए दोनों नाबालिग गहरे पानी में चले गये, जहां एक दूसरे को बचाने के चलते उनकी जल समाधि बन गई, वहीं गांव के दो लड़के उन्हें बचाने के लिए जलाशय में उतरे, लेकिन पानी पेट में भर जाने की वजह से वह भी बेहोश हो गये, जिन्हें ग्रामीणों ने बाहर निकाला, जिसके बाद दोनों लड़को के पेट का पानी बाहर निकाला गया, जिसके बाद दोनों लड़के खतरे से बाहर बताये गये। नाबालिगों के डूबने की सूचना ग्राम के सरपंच द्वारा पुलिस को दी गई, साथ ही नाबालिग मृत बच्चियों का शव गांव के तैराकों ने बाहर निकाला। पुलिस ने मामला कायम कर विवेचना में लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *