कटनी को सुन्दर और सबसे स्वच्छ शहर बनायेंगे- शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री ने की नगरीय क्षेत्रों के पंचवर्षीय रोड़मैप की समीक्षा

कटनी को सुन्दर और सबसे स्वच्छ शहर बनायेंगे- शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री ने की नगरीय क्षेत्रों के पंचवर्षीय रोड़मैप की समीक्षा

कटनी॥ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि औद्योगिक और प्रचुर खनिज सम्पदा की पहचान रखने वाले कटनी जिले के सभी नगरों का सुनियोजित विकास कर सुंदर और सबसे स्वच्छ नगर बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान शनिवार को कटनी नगर निगम की पंचवर्षीय कार्य योजना 2021-26 और नगर परिषद बरही, विजयराघवगढ़, कैमोर की विकास योजना की रणनीति एवं कार्यवाहियों के बिंदुओं पर समीक्षा कर रहे थे। होटल अरिंदम में आयेाजित इस समीक्षा बैठक में प्रदेश अध्यक्ष भाजपा एवं सांसद खजुराहो विष्णुदत्त शर्मा, खनिज संसाधन मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह, विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक, संदीप जायसवाल, प्रणय प्रभात पाण्डे, जिला पंचायत की प्रधान ममता पटेल पूर्व महापौर शशांक श्रीवास्तव, भाजपा जिला अध्यक्ष राम रतन पायल, पीतांबर टोपनानी, पूर्व मंत्री अल्का जैन, कमिश्नर जबलपुर बी. चंद्रशेखर,आई.जी. बी.एस. चौहान कलेक्टर प्रियंक मिश्रा, पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी, सी.ई.ओ. जिला पंचायत जगदीश चंद्र गोमे, आयुक्त नगर निगम सतेंद्र धाकरे भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कटनी जिला विकास और जनकल्याण की दिशा में तेजी से आगे बढ़े और विकास की नई उंचाईयों को छुये। सभी जन प्रतिनिधि मिलकर शहर को आगे बढ़ाने का कार्य करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन और औद्योगिक विकास के लिए कटनी में एयर स्ट्रिप का होना जरूरी है। उन्होंने जिला प्रशासन को इसके लिए उचित भूमि का चयन करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कटनी जिले में सभी प्रकार के  खनिजों की प्रचुरता है स्थानीय औद्योगिक इकाइयों में स्थानीय नवयुवकों को रोजगार मिले इसके लिए संबंधित ट्रेड में प्रशिक्षण और कौशल उन्नयन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि खनिजों का उचित दोहन और कच्चे माल की वैल्यू एडीसन और प्रसंस्करण के संबंध में भी प्रयास किये जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कटनी शहर के सीवरेज प्लान और पेयजल की योजना की समीक्षा के दौरान अपेक्षित प्रगति नहीं पाये जाने पर संबंधित निविदाकार को बुलाकार समीक्षा करने और कार्य पूरा करने की डेडलाईन तय करने के निर्देश दिये।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वच्छता व्यक्ति के स्वास्थ्य से जुड़ा मामला है। उन्होंने इंदौर का उदाहरण देते हुये बताया कि स्वच्छता में अव्वल रहने पर वहाँ संक्रामक बीमारियों का ग्राफ तेजी से गिर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता में कटनी को सबसे स्वच्छ बनाने और उसे नंबर वन रखने का कार्य हम सब मिलकर करेंगे। स्वच्छता गौरव का विषय बने और गीला तथा सूखा कचरा अलग-अलग संग्रहित कराने के प्रति नगर वासियों में जागरूकता फैलायें। नेकी की दीवार की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सर्वश्रेष्ठ मानवीय पहल है इस काम को आगे बढायें। शहरी विकास अधोसंरचना, यातायात सुधार और परिवहन सेवाओं की समीक्षा करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि कटनी शहर की व्यवहारिक आवश्यकताओं एवं परिस्थितियों के अनुरूप नागरिकों की सुविधायें विकसित करने का प्रयास किया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की तरह शहरी क्षेत्र की महिलाओं के स्व सहायता समूहों को आर्थिक गतिविधियों से जोड़कर सशक्त और सक्षम बनाने की जरूरत है। उन्होंने कटनी जिले की नगर निगम को प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वनिधि स्ट्रीट वेंडर योजना में बेहतर काम कर प्रदेश में चौथे स्थान पर आने पर जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम को बधाई दी। कटनी में निर्धारित लक्ष्य 5400 के विरूद्ध 4300 फुटपाथी विक्रेताओं को स्वनिधि योजना का लाभ दिया गया है। कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने कटनी नगर निगम के पंचवर्षीय रोडमैप का प्रस्तुतीकरण करते हुये बताया कि कटनी नगर निगम की पंचवर्षीय रोडमैप की कार्ययोजना में वर्ष 2026 तक 704 करोड़ 73 लाख रूपये लागत की कार्य योजना बनाई गई है। इसी प्रकार वार्षिक कार्ययोजना में वर्ष 2021-22 में 132 करोड़ के विकास कार्यों को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्य योजना के प्रमुख बिंदुओं शहरी अधोसंरचना विकास, आजीविका संवर्धन, राजस्व एवं प्रशासकीय सुधार पर्यावरण संरक्षण , पर्यटन एवं पर्यटन सर्किट का विकास आदि बिंदुओं पर समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कटनी शहर में एक सार्वजनिक पार्क इस प्रकार विकसित किया जाये कि वह लोगों को अपनी ओर सहज ही आकर्षित करे और दूसरे शहरों से आने वाले लोग उस पार्क को देखे बिना नहीं जायें। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले की अन्य नगरीय निकाय नगर परिषद कैमोर, विजयराघवगढ़, बरही की 2024 तक वर्षवार तैयार विकास और निर्माण कार्य योजना की समीक्षा की। इस मौके पर वन मंडल अधिकारी रमेश विश्वकर्मा, एसडीएम रोहित सिसोनिया, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा, मृदुल द्विवेदी, उद्योग संघ के प्रतिनिधि मनीष गेई, सुधीर मिश्रा, विजय मित्तल, अरविंद गुगालिया भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed