होलिका दहन पर की सुख-समृद्धि की कामना

शहडोल। रंगों का पर्व होलिका का दहन गुरुवार की रात शुभ मुहूर्त में लोगों ने होलिका दहन कर सुख-समृद्धि की कामना की। जिला मुख्यालय में किरण टॉकीज के पास रात 8 बजे के बाद होलिका दहन का क्रम शुरू हो गया था, जो देर रात तक चलता रहा। कई जगह पर कंडे की होली का दहन किया। पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए होलिका चारों तरफ कंडे और गोकाष्ट रखी गई। ज्यादातर लोगों ने आने वाले वर्षों में कंडे की होली जलाने का संकल्प लिया।
परंपरा का निर्वाह करते हुए किरण टॉकीज के लोगों ने परिवार के साथ होलिका का पूजन किया। इस बार होलिका दहन पर तीन विशेष योग दग्ध योग, अमरत्व योग, गद योग का भी लोगों ने ध्यान रखा। दहन के समय शारीरिक परेशानियों के साथ ही व्याधियों को ध्यान में रखकर उतारा कर नारियल सहित अन्य सामग्री होलिका की अग्नि में डाली।
सनातन परम्परा का निर्वाह करते हुए लोगों ने अपने से बड़ों को गुलाल लगाया और आशीर्वाद लिया। वहीं छोटों ने भी रंग, गुलाल से पर्व को उत्साह के साथ मनाया। महिलाओं ने भी एक दूसरे को गुलाल लगाया। किरण टॉकीज कालोनी में होलिका दहन के दिन सुबह से उत्साह देखा गया। कई जगह अरंडी के पेड़ रखे गए थे जहां दोपहर के बाद वहां प्रतिमाओं की स्थापना की गई। त्योहार को लेकर बच्चों में खास उत्साह देखा गया। समाजसेवी रंजीत बसाक ने नागरिकों से अपील की है कि पर्यावरण का ध्यान रखते हुए कंडे और गोकाष्ट से ही होलिका बनाये और उसका दहन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *