कार्य तो कराया पर वेतन देने पर की दादागिरी पंचायत भवन में चल रही रोजगार सहायक की गुन्डागर्दी

शुभम कोरी-7898119734

जिले के कई ग्राम पंचायतों में अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत से जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है। इन मामलों में अधिकारियों की चुप्पी कई सवाल खड़े कर रही हैं। कर्मचारियों की बेफीक्री का आलम यह है कि बगैर काम किए ही लाखों रुपए फर्जी तरीके से निकाले जा रहे हैं, यहां तक की कई ग्राम पंचायतों में फर्जी फमों के नाम से बिल लगाकर सरकारी राशि का गोलमाल किया गया अधिकांश मामलों की जानकारी अधिकारियों को होने के बावजूद कोई कार्रवाई न होना भ्रष्टाचार को एक गोरखधंधे का रूप दे रहा है।

अनूपपुर। जिले में रोजाना पंचायतो के नए-नए मामले सामने आ रहे है, कही भ्रष्टाचार तो कही निर्माण की राशि का बंदरबाट, परन्तु जैतहरी ब्लाक के ग्राम पंचायत देवरी के रोजगार सहायक नोखेलाल और वार्ड क्रमांक 5 के पंच संजीव सिंह किसी और ही अंदाज में देखने को मिल रहे है। जहा मार्च 2020 में विकास वर्मा से पंचायत के शौचालय के सर्वें का कार्य तो करा लिया गया, पर कार्य कराने के बाद किए गए कार्य की राशि मागने पर र्दुव्यवहार व गाली गलौज करने में उतारू हो गए।
डरा-धमका कर करवाई 181 की शिकायत वापस
पंचायत के शौचालय सर्वें का कार्य पूर्ण किए लगभग 1 वर्ष पूर्ण होने को है, लेकिन पंचायत में पदस्थ रोजगार सहायक नोखेलाल के द्वारा आज तक एक भी राशि का भुगतान नही किया गया, जब विकास के द्वारा 181 मे 5 फरवरी को शिकायत की गई तो सोमवार की सुबह लगभग 10 बजे नोखेलाल व वार्ड क्रमांक 5 के पंच संजीव सिंह के द्वारा बीच रोड में विकास वर्मा की गाडी से चाभी निकाल कर हाथ पैर टोडने की धमकी देने लगे भीड को देख दोनो ने मामले को वही छोड दिया और गाडी मे चाभी लगा कर मौजूदा स्थान से फरार हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *