प्रदेश में विश्व स्तरीय मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब स्थापित होगा – मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिये लक्षित कार्यों की समीक्षा

भोपाल।खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि प्रदेश में विश्व स्तरीय मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब की स्थापना की जायेगी। मंत्री श्री सिंह मंत्रालय में विभागीय समीक्षा कर रहे थे। बैठक में उन्होंने मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब, सेंटर फॉर पेरिशबल कार्गो, उद्योगों के अनुकूल परिसंपत्तियों का उन्नयन आधुनिकीकरण, मुद्रीकरण एवं लॉजिस्टिक्स संचालन का डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से एंड टू एंड इंटीग्रेशन किये जाने की समग्र रूपरेखा पर चर्चा की।

मंत्री श्री सिंह ने उपार्जन कार्यों एवं बारदानों की समीक्षा कर अधिकारियों को अग्रिम रूप से व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज़ अहमद किदवई, संचालक खाद्य एवं प्रबंध संचालक वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन श्री तरूण पिथोड़े, प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम श्री अभिजीत अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब

समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव श्री फैज़ अहमद किदवई ने बताया कि शासन की मंशा के अनुरूप प्रदेश को देश के प्रमुख भंडारण एवं लॉजिस्टिक्स हब के रूप में स्थापित किया जायेगा। विश्व स्तरीय मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब का निर्माण आगामी 52 माह में पूरा होने का लक्ष्य रखा गया है। मार्च 2024 तक परियोजना अपना मूर्त स्वरूप प्राप्त कर लेगी।

सेंटर फॉर पेरिशबल कार्गो की स्थापना

मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने नाश्वान सामग्री के लिए हवाई अड्डों पर सेंटर फॉर पेरिशबल कार्गो की स्थापना के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। प्रमुख सचिव श्री किदवई ने बताया कि यह परियोजना डेढ़ वर्ष में पूरी किये जाने का लक्ष्य है। इसका संचालन 1 अप्रैल 2022 में प्रारंभ किये जाने का लक्ष्य है।

उपलब्ध संसाधनों का उन्नयन

मंत्री श्री सिंह ने प्रदेश में उपलब्ध संसाधनों उद्योगों के अनुकूल उन्नयन किये जाने की समीक्षा की। प्रमुख सचिव ने कहा कि प्रदेश में उपलब्ध मौजूदा परिसंपत्तियों का उन्नयन किया जा रहा है। उनके आधुनिकीकरण एवं मुद्रीकरण का आंकलन किया जाकर उद्योगों के अनुकूल संसाधनों के उन्नयन का कार्य प्रगति पर है। इसे समय-सीमा 31 मार्च 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

लॉजिस्टिक्स संचालन के लिए एंड टू एंड इंटीग्रेशन

श्री किदवई ने बताया कि वेयर हाउसिंग और ट्रांसपोर्टेशन संचालन के डिजिटाईजेशन से ग्राहक की संतुष्टि में वृद्धि एवं भागीदारों को अधिक मूल्य प्रदान करने से निर्माताओं, परिवहन एवं परिवहन संचालकों को एक प्रभावी सप्लाई चेन-मेनेजमेंट का अनुभव प्रदान होगा। इसके लिये प्रोफेशनल कंपनी की नियुक्ति की जाकर एंड टू एंड इंटीग्रेशन के विज़न डाक्यूमेंट की संरचना एवं वर्तमान प्रक्रिया का अध्ययन एवं गैप एनालिसिस का कार्य प्रगति पर है। स्टेट लॉजिस्टिक्स प्लेटफार्म का निर्माण एवं क्रियान्वयन निरंतर प्रगति पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *